Monday, May 17, 2021

असम चुनाव में भाजपा सीएए पर बातचीत से बच रही, विकास को बनाया मुद्दा

- Advertisement -

गुवाहाटी: असम में नागरिकता संशोधन अधिनियम के कार्यान्वयन के लिए भाजपा की प्रतिबद्धता पर सवाल उठाने से बचते हुए, राज्य के कैबिनेट मंत्री और पूर्वोत्तर के लिए भाजपा के प्रमुख रणनीतिकार हिमंत बिस्व सरमाने शनिवार को कहा कि पार्टी राज्य की “पहचान और विकास” पर चुनाव लड़ रही है।

सरमा ने कहा, “आप असम के लोगों से पूछ सकते हैं, चुनाव पहचान और विकास पर है।” उन्होंने कांग्रेस के यह वादा करने के लिए भी तंजा कसा कि अगर वे सत्ता में आते हैं तो पार्टी असम में सीएए को लागू नहीं करेगी।

सरमा ने व्यंग्यात्मक रूप से जवाब दिया, “मुझे लगता है कि संसद में उनके पास बहुत बड़ा बहुमत है और वे फैसला कर सकते हैं।” बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को आश्वासन दिया कि अगर उनकी पार्टी को वोट दिया जाता है तो सीएए असम में लागू नहीं होगा।

डिब्रूगढ़ जिले के लाहोवाल कॉलेज के छात्रों से बात करते हुए गांधी ने कहा, “राज्य विधानसभा में यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सीएए असम में लागू न हो।” उन्होंने कहा, अन्य राज्यों में, कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर पर सत्ता में आने के बाद हम इसे रद्द कर देंगे।

सरमा ने विश्वास जताते हुए कि बीजेपी फिर से असम में सरकार बनाएगी, आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी आगामी राज्य चुनावों में बुरी तरह से हार जाएगी। असम में 126 सीटों के लिए विधानसभा चुनाव 27 मार्च से शुरू होने वाले तीन चरणों में होंगे और मतों की गिनती 2 मई को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles