अयोध्या विवाद को लेकर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य द्वारा दिए गए बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भड़क उठे। उन्होने कहा कि एक जिम्मेदार उपमुख्यमंत्री को इस तरह का घटिया और आपत्तिजनक बयान नहीं देना चाहिए।

ओवैसी ने कहा, ‘केशव प्रसाद मौर्य एक जिम्मेदार पद पर हैं। एक राज्य के एक जिम्मेदार उपमुख्यमंत्री को इस तरह के भड़काऊ और गलत बयान नहीं देना चाहिए, वह भी एेसे समय में जब अयोध्या मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है। उन्होंने कहा कि ऐसी भाषा में बात करने का मौर्य के पास कोई अधिकार नहीं है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दे कि उत्तर प्रदेश सरकार के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट और आपसी सहमति दोनों विकल्प खत्म हो जाएंगे तो तीसरा विकल्प संसद से राम मंदिर निर्माण कराने की दिशा में बढ़ेंगे।

केशव प्रसाद मौर्य ने यह भी कहा, ‘तुष्टीकरण की राजनीति ने राम मंदिर को लंबे समय तक रोककर रखा। विश्व हिंदू परिषद ने जब आंदोलन किया तब जाकर ताला खुला। हम लोग सर्वोच्च न्यायालय से अपील और अपेक्षा करते हैं कि जल्द से जल्द इस मामले में निर्णय आए। हर राम भक्त की यही इच्छा है कि राम मंदिर बने। भारतीय जनता पार्टी ने इस प्रस्ताव पास करके रखा है।’

Loading...