ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेदादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने देश में एक बाद एक सामने आ रहे बैंकिंग घोटालों को लेकर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि जो मुस्लिमों को दूसरे दर्जे का नागरिक बनाने की ख्वाब देख रहे वो बताए कि कितने मुसलमानों ने देश को लूटा है ?

ओवैसी ने कहा कि, हमने बहुत नारे दिए, हिंन्दू मुस्लमान भाई-भाई. हम मुस्लमान नहीं हुए, वो हिन्दू राष्ट्र की तरफ जरूर चले गए. ओवैसी ने कहा, हमको इस मुल्क में दूसरे दर्जे का शहरी बनाने का जो लोग ख्वाब देख रहे हैं. जो आज भी हमें पाकिस्तानी कहकह पुकारते हैं, मैं उनसे पूछना चाहतू हूं. हर्षद मेहता, केतन पारेख, नीरव मोदी क्या मुस्लमान थे? आपने जिसको भाई कहा वही तो लूट कर भाग गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा, ‘हमारे वज़ीर ए आज़म ने एक भाई को कहा – मेहुल भाई, क्या वो मुसलमान थे? आपने जिसको भाई कहा वही तो लूट कर भाग गया.’

सेकुलरिज्म  को लेकर ओवैसी ने कहा, मै आज तक सेकुलरिज्म का मतलब नहीं समझ पाया, सेकुलरिज्म का लफ्ज़ सिर्फ मुसलमानों की बर्बादी के लिए इस्तेमाल किया गया.

बता दें कि इससे पहले एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सरकार से आग्रह कर चुके हैं कि किसी भी भारतीय मुसलमान को ‘पाकिस्तानी’ कहकर पुकारने वाले व्यक्तियों को तीन साल कैद की सजा दिलवाने के लिए कानून बनाया जाए.

Loading...