ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (AIMIM) के चीफ और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के जौनपुर और आज़मगढ़ का दौरा कर समाजवादी पार्टी सहित बड़े राजनीतिक दलों की परेशानी बढ़ा दी। उन्होने साफ कहा कि मुसलमानों को अब हिस्सेदारी चाहिए। वह किसी के इशारे पर ताली नहीं बजाएगा।

समाचार एजेंसी ANI से उन्होंने कहा, “मैं ओम प्रकाश राजभर से मिलने आया हूं। एआईएमआईएम भागदारी संकल्प मोर्चा (बीएसएम) का हिस्सा है। मैं गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए लोगों को धन्यवाद करता हूं। मेरा मानना ​​है कि आगामी विधानसभा चुनाव में बीएसएम अच्छा प्रदर्शन करेगी।”

उन्होने समाजवादी पार्टी को निशाने पर लेते हुए कहा कि यह पार्टी अब सोशल मीडिया की पार्टी बनकर रह गई है। उन्होंने दावा किया कि अगले साल होने वाले यूपी विधान सभा चुनाव में उनका गठबंधन यानी भागीदारी संकल्प मोर्चा बड़ी जीत के साथ राज्य की राजनीति में बड़ा फेरबदल करेगा।

ओवैसी ने ये भी कहा कि यूपी में जब अखिलेश यादव की सरकार थी तो मुझे 12 बार पूर्वांचल आने से रोका गया। इस बार आ गया हूं। अब ओमप्रकाश राजभर के साथ गठबंधन किया है, मैं दोस्ती निभाने आया हूं। हम दोनाें यूपी में टक्कर देंगे।

यूपी में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा के चुनाव होने हैं। कुल 403 सीटें हैं। जिसमे पश्चिमी यूपी में क़रीब सौ ऐसी विधानसभा सीटें हैं जिस पर मुस्लिम वोटरों का दबदबा है। ओवैसी की नज़र इसी वोट बैंक पर है। यहां मुसलमानों की आबादी 20 से लेकर 40 प्रतिशत तक है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano