नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) के अपने संकल्प पत्र में चुनाव जीतने पर सभी बिहारवासियों को फ्री कोरोना वैक्सीन देने की घोषणा को विपक्षी पार्टियों ने बड़ा मुद्दा बना लिया है।

इसी बीच अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने फ्री कोरोना वैक्सीन को हर भारतीय का अधिकार बताया। उन्होने कहा कि कोविड-19 का टीका देश भर में मुफ्त उपलब्ध कराया जाना चाहिए क्योंकि सभी लोग कोरोना वायरस (Corona Virus) से परेशान हैं।

वहीं महाराष्ट्र में सत्ताधारी दल शिवसेना (Shiv Sena) ने भी भाजपा पर निशाना साधा। शिवसेना के मुखपत्र सामना में पूछा गया है कि ‘क्या बिहार के अलावा राज्य पाकिस्तान में हैं?’ सामना में लिखा गया है, ‘भारतीय जनता पार्टी की असली नीति क्या है? उनका दिशा-दर्शक कौन है? इस बारे में थोड़ा भ्रम का माहौल दिख रहा है। दो दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी ने जनता को आश्वासन दिया था कि सरकार प्रयास करेगी कि कोरोना का ‘टीका’ आते ही उसे देश के सभी लोगों तक पहुंचाया जाए।’

सामना में लिखा गया है कि, ‘मुफ्त में टीका सिर्फ बिहार को ही क्यों? पूरे देश को क्यों नहीं? पहले इसका उत्तर दो। पूरे देश में कोरोना का तांडव मचा है। यह आंकड़ा 75 लाख से ज्यादा तक पहुंच चुका है। लोग रोज अपनी जान गंवा रहे हैं। ऐसे में एक ऐसे राज्य में जहां विधानसभा चुनाव हो रहे हैं, वहां इस प्रकार की राजनीति होना दुखद है। बिहार के चुनाव से ‘विकास’ गुम हो चुका है।’

बता दें कि बिहार चुनाव के लिए भाजपा के संकल्प पत्र में राज्य के लोगों को नि:शुल्क टीका उपलब्ध कराने का वादा 11 संकल्पों में पहले स्थान पर है। भाजपा का ‘संकल्प पत्र’ जारी करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने गुरुवार को पटना (Patna) में कहा कि जब तक कोरोना वायरस का टीका नहीं आता है, तब तक मास्क ही टीका है, लेकिन जैसे ही टीका आ जाएगा तो भारत में उसका उत्पादन बड़े स्तर पर किया जाएगा।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano