मुजफ्फरनगर | उत्तर प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनावो का आज पहला चरण संपन्न हो गया. विधानसभा की 73 सीटो पर कुल 64 फीसदी मतदान हुआ. पिछले विधानसभा चुनावो के मुकाबले इस पर वोटिंग परसेंटेज बढ़ा है. पिछले चुनाव में इन्ही 73 सीटो पर 61 फीसदी चुनाव हुआ था. हालाँकि पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार 9 फरवरी को थम चूका था लेकिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जाटो को मनाने के लिए चुनाव की अंतिम रात तक प्रयास करते रहे.

दरअसल सोशल मीडिया पर अमित शाह का एक ऑडियो वायरल हो रहा है जिसमे वो जाट बिरादरी से बीजेपी के पक्ष में मतदान की अपील कर रहे है. इस ऑडियो में अमित शाह मुजफ्फरनगर दंगे से लेकर जाट आरक्षण की बात कहते हुए सुनाई दे रहे है. वो जाट बिरादरी को मुजफ्फरनगर दंगो की याद दिलाते हुए कहते है की अगर अखिलेश की सरकार आई तो आपको कुछ हासिल नही होगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इशारो ही इशारो में अमित शाह ने कहा की अखिलेश की सरकार आने पर आपको एक बार फिर दंगे और उनके मुक़दमे झेलने पड़ेंगे. उन्होंने कहा की हमारे मंत्री जी संजीव बालियान की ऊम्र पिछले दो साल में 8 साल बढ़ गयी है, लडको को छुडाते छुडाते. अमित शाह का इशारा उन लडको से था जो दंगो के दौरान गिरफ्तार किये गए थे. इसके अलावा अमित शाह ने आरक्षण की बात करते हुए कहा की अगर हम सत्ता में नही आये तो यह उनकी जीत होगी जो आपका आरक्षण रोकने के लिए एडी चोटी का जोर लगा रहे है.

दरअसल पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाट निर्णायक भूमिका में है. लोकसभा चुनाव के दौरान यह बिरादरी मोदी के साथ थी जिसकी वजह से बाकी पार्टियों का पश्चिमी उत्तर प्रदेश से सफाया हो गया था. लेकिन मोदी सरकार बनने के बाद भी जाटो के लिए कोई ठोस कदम नही उठाये गए जिसकी वजह से यह बिरादरी विधानसभा चुनाव में बीजेपी से नाराज चल रही है. इस बार के चुनावो में जाटो का रुझान लोकदल की तरफ है. यही वजह है की अमित शाह जाटो की वोट पाने के लिए जी तोड़ मेहनत करते दिखे.

आगे सुनिए क्या क्या कहा अमित शाह ने

Loading...