amar singh11

समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने मुजफ्फरनगर दंगे को लेकर सवाल उठाते हुए कहा कि गुजरात का दंगा…दंगा है, जबकि मुजफ्फरनगर का दंगा आजम खान की खेल-कूद प्रतियोगिता है।

उन्होने कहा कि मुजफ्फरनगर में ऐसे भयंकर दंगे हुए कि गुजरात शर्मसार हो जाए। आजादी के समय देश में जब भयंकर सांप्रदायिक दंगे हुए तब भी वहां दंगे नहीं हुए थे क्योंकि वहां की पूरी सामाजिक संरचना हिंदू मुस्लिमों पर निर्भर है। जाटों की जमीन है और मुस्लिम वहां श्रमिक हैं। लेकिन वो गाजर मूली की तरह काटे गए।

हिंदी चैनल आजतक पर एक कार्यक्रम में शामिल हुए अमर सिंह ने कहा, “आज मैं व्याकुल हूं। पूरे परिप्रेक्ष्य में धर्मनिरपेक्षता और सांप्रदायिकता का भेद लुप्त हो गया है। हम गुजरात दंगे की बात करते हैं और करनी चाहिए। हमारी बात छोड़िए, स्मृति ईरानी ने भी अपने वक्त में ये किया था। लेकिन मेरा सवाल है- मुजफ्फनगर में ऐसे भयंकर दंगे हुए, जिससे गुजरात शर्मसार हो जाए।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सिंह ने कहा कि अब ये धर्मनिरपेक्षता और सांप्रदायिकता की नई परिभाषा क्या है कि गुजरात का दंगा है और मुजफ्फनगर का दंगा आजम खान के नेतृत्व में खेलकूद प्रतियोगिता है। आज व्याकुलता की बात बोली जा रही है, हम लोग मोदी जी को चिन्हित कर रहे हैं कि क्या सच है और क्या झूठ है लेकिन गुजरात के साथ मुजफ्फरनगर भी याद रखा जाना चाहिए।

Loading...