akhilesh yadav mayawati 644x362

मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस के साथ बहुजन समाज पार्टी ने पहले ही गठबंधन करने से इंकार कर दिया है। अब समाजवादी पार्टी (सपा) भी बसपा के ही नक्शेकदम पर है।

दरअसल, समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार (छह अक्टूबर) को लखनऊ में हुए एक कार्यक्रम में कहा, “कांग्रेस ने हमें बहुत इंतजार कराया है। हम अब बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से इस बारे में बात करेंगे।”

सपा प्रमुख ने आगे कहा, “हम मध्य प्रदेश चुनाव में कांग्रेस के साथ मैदान में उतारने की तैयारी कर रहे थे। पर कांग्रेस ने अभी तक हमसे अपनी किसी भी योजना पर चर्चा नहीं की है। हमने उसके चक्कर में बहुत इंतजार किया, मगर अब हम और नहीं रुकेंगे। हम बसपा से इस बारे में बात करेंगे।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि छत्‍तीसगढ़ में भी गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से बात चल रही है। बीएसपी से भी बात की जाएगी। अखिलेश यादव ने कहा कि कांग्रेस को समान विचारधारा के दलों को साथ लेकर चुनाव लडऩा चाहिए। अब तो देर हो गई है। बीएसपी ने किनारा कर लिया है. अन्य दल भी अपने प्रत्याशी घोषित कर देंगे।

बता दें कि पिछले दिनों मायावती ने यह आरोप लगाया था कि दिग्विजय सिंह जैसे नेता नहीं चाहते थे कि कांग्रेस और बसपा के बीच चुनावी गठबंधन हो। यही वजह है कि कांग्रेस से अब मप्र और राजस्थान में गठबंधन नहीं होगा। इस बयान से पहले बसपा छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर चुकी थी।

Loading...