akh

लखनऊ: ताजमहल को राज्य की पर्यटन सूची से बाहर करने करने को लेकर योगी सरकार बुरी तरह से फंस चुकी है. अब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस बारें में गंभीर सवाल उठाए है.

ताज नगरी आगरा में आयोजित समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारणी बैठक में उन्होंने कहा कि भाजपा को अगर ताजमहल से दिक्कत है तो 15 अगस्त को प्रधानमंत्री लालकिले पर तिरंगा क्यों फहराते हैं. ताजमहल और लाल किला में संबंध कौन नहीं जानता. जिसने ताजमहल बनवाया, उसने ही लाल किला बनवाया था.

उन्होंने ताजमहल को भारत की पहचान बताते हुए कहा कि भाजपा मुख्य मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने के लिये इस तरह के मुद्दों को उछालती है. नोटबंदी और जीएसटी से भारत में आर्थिक मंदी आने वाली है. ऐसे में भाजपा दूसरों मुद्दों को उठाकर मुख्य मुद्दों से जनता का ध्यान भटका रही है.

सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 2014 में आगरा में दिया वह भाषण ही याद रखना चाहिए जिसमें उन्होंने कहा था कि पर्यटन से देश का विकास होता है, दुनिया में पर्यटन का कारोबार थ्री ट्रिलियन का है. उन्होंने कहा, ताज भारत की पहचान है. इसके आसपास हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई एकता देखने को मिलती है. लोग मिल जुलकर कारोबार करते हैं.

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार फेल हो रही है, इसलिए इस तरह के मुद्दे उछाले जा रहे हैं. इन लोगों ने चुनाव में गाय, गोबर, कब्रिस्तान और श्मशान घाट के मुद्दे उठाए थे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?