Saturday, October 23, 2021

 

 

 

मेरा राजनीति करने का अन्दाज़ अलग, अभी किसी पार्टी के साथ गठबंधन नही – अखिलेश यादव

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने फ़िलहाल सभी क़यासों पर विराम लगाते हुए कहा की वह अभी किसी दल के साथ गठबंधन करने के बारे में नही सोच रहे है। अखिलेश का यह बयान उस समय आया है जब क़यास लगाए जा रहे थे की भाजपा के बढ़ते क़दमों को रोकने के लिए विपक्ष एकजुट हो सकता है। इसकी एक बानगी तब देखने को मिली जब अखिलेश ने सभी विपक्षी पार्टियों के नेताओ को बैठक के लिए आमंत्रित किया।

लेकिन इस बैठक में कांग्रेस और बसपा का कोई प्रतिनिधि नही पहुँचा। बरहाल अखिलेश ने पीटीआइ-भाषा को दिए इंटरव्यू में पार्टी की आगामी रणनीति के बारे में ख़ुलासा किया। उन्होंने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव निर्णायक होगा। इसलिए फ़िलहाल मेरा पूरा ध्यान सपा के जनधार को बढ़ाने पर है। मैं अभी किसी भी दल के साथ गठबंधन के बारे में नही सोच रहा हूँ।

अखिलेश ने आगे कहा,’ इससे (समझौते और सीटों के बंटवारे में) काफी वक्त खराब होता है, और मैं (सीटों को लेकर) किसी भ्रम में नहीं पड़ना चाहता। मैं सपा कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए एक बार फिर रथ यात्रा करूँगा। इसके लिए मार्ग और योजना बनाई जा रही है। चूँकि अभी लोकसभा चुनाव में काफ़ी समय है इसलिए अभी मेरी प्राथमिकता सपा के वोट बैंक को मज़बूत करने पर है।’

भाजपा के बढ़ते क़दमों पर उन्होंने कहा की जनता को सपा से काफ़ी उम्मीदें है। वो आज भी हमारा शासन याद करते है और चुनाव में हमें वोट न देने की ग़लती स्वीकार कर रही है। केवल सपा ही भाजपा को रोक सकती है। गठबंधन पर उन्होंने कहा की मेरा राजनीति करने का अन्दाज़ अलग है। मैं समान विचारधारा के दलो के साथ ‘दोस्ती’ को तैयार है। लेकिन अभी प्राथमिकताए दूसरी है।

ईवीएम पर एक बार फिर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा की वोटिंग मशीन के बारे में उत्पन सारी आशंकाए समाप्त होनी चाहिए। इसलिए हमारी माँग है की फूलपुर और गोरखपुर उपचुनाव मतपत्रों से होने चाहिए। योगी सरकार को सभी मोर्चे पर विफल क़रार देते हुए उन्होंने कहा की पीछले 10 माह में योगी सरकार कोई नई योजना लेकर नही आयी है। केवल हमारी योजनाओं को ही आगे बढ़ाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles