उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में नेताओं के बीच बिजली सबसे ज्यादा करंट फुल मुद्दा बनी हुई हैं. एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और योगी आदित्यनाथ बिजली देने में यूपी सरकार पर भेदभाव के आरोप लगा रहे हैं तो वहीं अखिलेश यादव सपा सरकार का बचाव कर रहे हैं.

अखिलेश ने पीएम मोदी के यूपी में बिजली वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि पीएम तार छू कर देख लें कि उसमें करंट है या नहीं. खिलेश ने कहा, ‘हम वाराणसी को 24 घंटे बिजली दे रहे हैं. पीएम मोदी झूठे बयान देकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘पीएम गंगा मैय्या की कसम खा लें की यूपी में बिजली दी जा रही है या नहीं.’

इसी के साथ उन्होंने योगी आदित्यनाथ को भी निशाने पर लिया और कहा, वह गोरखपुर के बाबा को चुनौती देते हैं कि वह बिजली के किसी तार को पकड़कर दिखाएं, जिससे पता चले कि वहां पर बिजली आ रही है या नहीं. अखिलेश ने आगे कहा कि मैंने पहले भी कहा था और अभी भी कह रहा हूं कि सपा-कांग्रेस गठबंधन की 300 से अधिक सीटें आ रही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि हम कहते हैं काम को लेकर बहस होनी चाहिए. पीएम मोदी इसपर जहां बहस करना चाहें, मैं तैयार हूं. फिर चाहे वह गंगा मैया के पास हो या फिर खजांची वाली जगह. अखिलेश ने कहा कि जनता के मुद्दे हमारे लिए महत्वपूर्ण है.उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार कई जगह है. अगर उन्हें कर्ज माफ करना है तो वे केंद्र सरकार में हैं तो ऐसे में कभी भी कर सकते हैं. मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ आदि में उनकी सरकार है, वहां वो कर्ज माफ कर सकती है.

गौरतलब है कि 20 फरवरी को फतेहपुर रैली में पीएम नरेंद्र मोदी कांग्रेस और सपा गठबंधन पर जमकर बरसे थे. उन्होंने राज्य की बिजली व्यवस्था को लेकर राहुल-अखिलेश पर कटाक्ष करते हुए कहा था, “पहले ही दिन रथ पर जब दोनों निकले तो रास्तों पर तार मिले. तारों के बीच में कांग्रेस उपाध्यक्ष डर रहे थे. झुक रहे थे. लेकिन अखिलेश जी नहीं डर रहे थे क्योंकि उन्हें पता था कि तार है बिजली नहीं है.”

Loading...