ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के मुखिया और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एक ही सिक्के के दो पहलू बताते हुए कहा कि दोनों में ही कोई फर्क नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि ‘अखिलेश और मोदी में कोई फर्क नहीं है. दोनों ही विकास के नाम पर जनता को बेवकूफ बनाते हैं. उन्होंने  मुलायम सिंह यादव के बयान का सहारा लेते हुए कहा कि अखिलेश मुस्लिम विरोधी है, अब आप बाप पर यकीन करेंगे या बेटे पर करेंगे.’ याद रहें कि मुलायम सिंह ने अखिलेश यादव को मुस्लिम विरोधी बताया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ओवैसी ने आगे कहा कि ‘मुसलमानों ने मुलायम, अखिलेश और राजीव गांधी को अपना नेता माना लेकिन उन्होंने इस कौम को सिर्फ छलने का काम किया. इन नेताओं की बुजदिली, नाइंसाफी और उपेक्षा की वजह से हम आपके सामने आ खड़े हुए हैं. उन्होंने कहा, सपा ने आतंकवाद के झूठे आरोप में जेल में बंद मुस्लिम लड़कों को छुड़ाने की बात कही थी लेकिन उस पर कुछ काम नहीं किया गया.

तीन तलाक के मुद्दे पर ओवैसी ने कहा, ‘मोदी सरकार को सिर्फ तीन तलाक की याद क्यों आई? उन्हें गुजरात दंगों की शिकार हुई जकिया जाफरी और दादरी कांड में मारे गए अखलाक की मां की याद क्यों नहीं आई. यह सरकार सिर्फ जुमलों पर चल रही है.’ उन्होंने कहा कि बीजेपी सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही बूचड़खाने बंद करने की बात क्यों कर रही है. अगर करना ही है तो सरकार इन्हें पूरे देश में बंद करे.

Loading...