akhilesh21

लखनऊ | विधानसभा चुनावो में टिकेट बटवारे को लेकर समाजवादी पार्टी में एक बार फिर दरार पड़ती दिख रही है. समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव के कुछ चहेतों के नाम लिस्ट से हटाकर इस दरार को और चौड़ी कर दिया है. अखिलेश इस बात से नाराज बताये जा रहे है इसलिए वो कुछ बड़ा कदम उठा सकते है.

दरअसल बुधवार को मुलायम सिंह यादव ने आगामी विधानसभा चुनावो के लिए 325 उम्मीदवारों की एक लिस्ट जारी की थी. इस लिस्ट से वो नाम गायब थे जो अखिलेश के करीब समझे जाते है. यही बात अखिलेश को नागवार गुजरी है. अगली रणनीति बनाने के लिए अखिलेश ने गुरुवार को अपने समर्थको की मीटिंग बुलाई है. इस मीटिंग में अलगे कदम के बारे फैसला लिया जायेगा.

खबर है की इस मीटिंग में अखिलेश के भाई धर्मेन्द्र यादव , अरविंद गोप और अभिषेक मिश्रा समेत वो विधायक और मंत्री शामिल होंगे जिनके टिकेट मुलायम सिंह ने काट दिए है. सूत्रों के अनुसार अखिलेश अपने समर्थको को निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए भी कह सकते है. यही नही अखिलेश सभी लोगो के समर्थन में रैली करने के लिए भी तैयार है.

हालांकि बुधवार शाम को भी अखिलेश ने कुछ विधायको और मंत्रियो के साथ बैठक की थी. मीटिंग से बाहर निकलकर विधायको ने कहा था की हम नेताजी जी के फैसले के साथ है, वो जैसा करेंगे हम उसके लिए तैयार है. उधर खबर मिली है की अखिलेश की अपने समर्थको के साथ बैठक खत्म हो चुकी है. बैठक से निकलकर अखिलेश , मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंचे है. उम्मीद है वो अपने पिता को वर्तमान परिस्थिति के बारे में अवगत करायेंगे.

लिस्ट जारी होने के बाद अखिलेश ने मीडिया से बात करते हुए कहा की मैं नेताजी से बात करूँगा और उनको अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की गुजारिश करूँगा. लिस्ट में किस किस के नाम है अभी मुझे इसकी जानकारी नही है लेकिन मैंने नेता जी को वो नाम दिए थे जिनके जीतने के समीकरण ज्यादा थे.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें