लखनऊ | सूबे के सबसे ताकतवर परिवार में चल रही कलह कब खत्म होगी यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन आज यह तय हो जायेगा की ‘साइकिल’ की सवारी कौन करेगा. चुनाव आयोग कुछ ही देर में इस बात की घोषणा कर देगा की ‘साइकिल’ सिंबल को फ्रीज किया जाये या किसी एक गुट को इसकी कमान सौप दी जाए. इसी बीच मुलायम सिंह ने आज अपने बेटे अखिलेश पर सख्त रुख अपनाते हुए उसे मुस्लिम विरोधी करार दिया.

चुनाव आयोग का फैसला आने से पहले समाजवादी पार्टी प्रुमख मुलायम सिंह यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. लखनऊ के पार्टी कार्यालय में बोलते हुए मुलायम ने अखिलेश पर कई वार किये. उन्होंने कहा की मेरा बेटा विरोधियो के हाथो में खेल रहा है. मैंने उसे कई बार बातचीत के लिए बुलाया लेकिन वो नही आया. फिर मैंने उसे बहु (डिंपल यादव) और बेटे की कसम दी तो वो मिलने आया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुलायम ने आगे कहा की अखिलेश मुझसे मिलने आया लेकिन मेरी बात सुने बिना ही , एक मिनट में वहां से चला गया. अखिलेश पर मुस्लिम विरोधी होने का आरोप लगाते हुए मुलायम ने कहा की प्रदेश में अखिलेश की छवि एक मुस्लिम विरोधी नेता की बनी है क्योकि उसकी उम्मीदवार की लिस्ट में मुस्लिम प्रत्याशियों की संख्या बहुत कम है.

रामगोपाल यादव को एक बार फिर झगडे की जड़ बताते हुए मुलायम ने कहा की रामगोपाल ने पार्टी को बर्बाद कर दिया. चुनाव आयोग आज सिंबल पर फैसला करेगा. फैसला चाहे जो भी , सिंबल चाहे जो भी , आप (कार्यकर्त्ता) हमारा साथ देना. मैं अभी भी पार्टी और सिंबल बचाने की पूरी कोशिश कर रहा हूँ. लेकिन अगर फैसला नही होता तो मैं अखिलेश के खिलाफ भी लड़ने के लिए तैयार हूँ.

Loading...