यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद कहा कि ‘उत्तर प्रदेश के चुनाव में जनता का फैसला मैं स्वीकार करता हूं. मैं अपने कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देता हूं.’ पार्टी की हार की जिम्मेदारी पर अखिलेश ने कहा कि मैं पार्टी अध्यक्ष हूं, हार के विश्लेषण के बाद फैसला होगा.

हार के बाद कांग्रेस के साथ गठबंधन पर उन्होंने कहा कि  ‘कांग्रेस के साथ गठबंधन जारी रहेगा. हो सकता है लोगों को एक्सप्रेस वे न पसंद आया हो, बुलेट ट्रेन के लिए वोट किया हो.’ उन्होंने कहा, इस गठबंधन से हमें लाभ हुआ. इस गठबंधन के जरिये दो युवा नेता साथ आए.

अखिलेश ने कहा कि हमने यूपी के विकास के लिए काम किया, जब तक कोई हमसे अच्छा काम करके नहीं दिखाता, तब तक हमारा काम जरूर बोलेगा. उन्होंने कहा कि हमारी साइकिल ट्यूबलेस साइकिल थी और आगे भी पंचर नहीं होगी. यूपी में समझाने से वोट नहीं मिलता और बहकाने से मिलता है. नई सरकार हमसे अच्छा काम करके दिखाए.

उन्होंने कहा, जनता को लगता होगा कि जो सरकार बनेगी वह 1000 रुपये महीने से ज्यादा पेंशन देगी. हमने किसानों का 1600 करोड़ रुपये कर्ज माफ किया था. अब लगता होगा कि भाजपा की पहली कैबिनेट बैठक में यूपी के किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा, इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या होगी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?