Friday, September 24, 2021

 

 

 

गुरुद्वारों में RSS के दखल से नाराज अकाली दल NDA की बैठक में नहीं हुआ शामिल

- Advertisement -
- Advertisement -

चंडीगढ़: लोकसभा चुनाव के पहले पंजाब में एनडीए के सहयोगी शिरोमणि अकाली दल ने गुरुवार को बीजेपी और आरएसएस से अपने मतभेद जाहिर किए हैं। अकाली दल ने गुरुवार को एनडीए की बैठक का बहिष्कार करते हुए बीजेपी और आरएसएस पर सिखों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया है।

शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता और सांसद नरेश गुजराल ने गुरुवार को कहा कि अकाली दल गुरूद्वारों के प्रबंधन सहित सिखों के आंतरिक मामलों में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के हस्तक्षेप से नाराज है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी को बीजेपी के कुछ नेताओं की उस बयानबाजी से भी आपत्ति है जिससे अल्पसंख्यकों के बीच भय का वातावरण उत्पन्न होता है।

गुजराल ने कहा, ‘नांदेड़ के हुजूर साहिब में जो कुछ हो रहा है उससे हम बेहद निराश एवं दुखी हैं। संघ को सिखों के धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।’ बता दें कि गुरुवार को अकाली दल के नेता एनडीए गठबंधन की बैठक में शामिल नहीं हुए थे।

इससे पहले अकाली नेता और दिल्‍ली से विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने टि्वटर पर लिखा, ‘गुरुद्वारों में बीजेपी के लगातार दखल के चलते एनडीए के सबसे पुराने सहयोगी को एनडीए की बैठक छोड़नी पड़ी। अकाली दल के लिए सत्‍ता या राजनीति से ज्‍यादा सिखों से किया गया संकल्‍प जरूरी है।’

उन्‍होंने बुधवार को बीजेपी से कहा था कि यदि सिखों के अंदरूनी मामलों में दखल नहीं रूका तो उनकी पार्टी गठबंधन से अलग होने का गंभीर कदम उठाने को तैयार है। गुरुद्वारों में आरएसएस के किसी भी दखल को अकाली दल सहन नहीं करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles