नई दिल्ली | मंगलवार को गुजरात में हुए राज्यसभा चुनाव मानो राजनीती का अखाडा बन गए हो. देश की दो सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस और बीच चले इस द्वन्द में जीत कांग्रेस के हाथ लगी. कांग्रेस की जीत से जहाँ बीजेपी को करार झटका लगा वही देश के कुछ न्यूज़ चैनल भी इस परिणाम से असहज हो गए. कल सुबह से ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी का गुणगान कर रहे कुछ न्यूज़ चैनल को अब समझ ही नही आ रहा की इस असमंजस की स्थिति से कैसे बाहर निकले.

गुजरात में कल जो कुछ भी हुआ उसे स्वस्थ लोकतंत्र के लिए बिलकुल भी सही नही कहा जा सकता. जिस तरह दो कांग्रेसी विधायको ने मतदान करने के बाद अपने वोट बीजेपी नेताओ को दिखाए वो स्पष्ट करते है की कही न कही चुनाव से पूर्व दोनों विधायको और बीजेपी के बीच कोई डील हुई थी. लोकतंत्र में पैसे और धन बल के इस्तेमाल ने हमारे देश की राजनीती को खोखला कर दिया है. लेकिन मीडिया इस बात पर चिंता व्यक्त करने की बजाय इसे मोदी और शाह का मास्टर स्ट्रोक बताने पर उतारू है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया के इस दोहरेपन पर कांग्रेसी नेता अजय माकन ने कड़ा प्रहार किया है. उन्होंने एक टीवी न्यूज़ चैनल की खबर को ट्वीट करते हुए लिखा,’ न्यूज़ चैनल भी गजब है भाई, सुबह अहमद पटेल की हार की भविष्यवाणी करने के बाद अब उनको जीतता देख चिल्ला रहे है,’ पटेल की जीत में भी कांग्रेस की हार’, शर्म करे.’ दरअसल कुछ न्यूज़ चैनल सुबह से कांग्रेस के चाणक्य अहमद पटेल की हार की भविष्यवाणी कर रहे थे. एक न्यूज़ चैनल ने तो इसे मोदी शाह की सोनिया पर सियासी सर्जिकल स्ट्राइक तक करार दे दिया था.

लेकिन जैसे ही अहमद पटेल के पक्ष में हवा बनने लगी तो इन न्यूज़ चैनल को यह नही सूझा की शाह मोदी का मास्टरस्ट्रोक बताने वाले वाक्य को वो कैसे कवर करे. इसलिए एक नयी लाइन चलानी शुरू कर दी की ‘पटेल की जीत में भी कांग्रेस की हार’. अजय माकन के ट्वीट पर कई यूजर ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कुछ न्यूज़ चैनल की मोदी शाह के साथ सांठ गाँठ का भी आरोप लगाया. एक ने लिखा की आखिर बीजेपी का नमक खाया है तो नमक हरामी कैसे करेंगे.

Loading...