लखनऊ | वक्फ बोर्ड की जमीने हड़पने और अनियमितताओ के मामले में योगी सरकार के निशाने पर आये पूर्व मंत्री आजम खान ने पलटवार किया है. इसके अलावा उन्होंने सूर्यनमस्कार और नमाज की तुलना करने पर भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को निशाने पर लिया है. उनका कहना है की अगर दोनों समान है तो क्या योगी नमाज पढना पसंद करेंगे. आजम खान ने अवैध बूचडखानो पर हो रही कार्यवाही पर भी प्रतिक्रिया दी.

वक्फ बोर्ड में घोटाले का आरोप लगाने वाले शिया धर्म गुरु कल्बे जवाद और राज्य मंत्री मोहसिन रजा पर भड़कते हुए आजम खान ने कहा की दोनों आधुनिक वक्त के ‘मीर जाफर’ है. वक्फ बोर्ड में अनियमिताओ और संपत्ति हड़प करने के आरोप पर उन्होंने कहा की मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूँ. अगर मैं दोषी पाया जाता हूँ तो मैं फंसी चढ़ने के लिए भी तैयार हूँ.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सूर्यनमस्कार और नमाज की मुद्राओ को समान बताने पर योगी आदित्यनाथ की आलोचना करते हुए आजम खान ने कहा की मैं नहीं समझ पा रहा हूँ की मुस्लिमो द्वारा पढ़ी जाने वाली नमाज और सूर्यनमस्कार समान कैसे हो सकते है? और अगर योगी जी कह रहे की दोनों समान है तो क्या वो नमाज पढना पसंद करेंगे. आजम खान ने आगे कहा की अगर वो इस तरह का बयान दे देते तो सत्ता पक्ष उन्हें अब तक हथकड़ी पहना देता.

आजम खान ने बूचडखानो पर हो रही कार्यवाही पर कहा की मैं यह मानता हूँ की मुस्लिमों को यह सुनिश्चित करने के लिए सब्जियां खाने को मजबूर किया जा रहा है कि अन्य की धार्मिक भावनाएं आहत नहीं हों. लेकिन शेर घास नही खाता. हां जिन्दा रहने के लिए उसे मजबूरी में घास भी खाना पड़ेगा. बताते चले की योगी ने योग मोहत्सव में कहा था की सूर्य नमस्कार और नमाज को ध्यान से देखने पर लगेगा की दोनों की मुद्राओं में काफी समानता है.

Loading...