लखनऊ | उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने पूर्व मंत्री आजम खान की सुरक्षा को घटने का फैसला किया है. उनको दी जाने वाली जेड श्रेणी की सुरक्षा को घटाकर वाई श्रेणी की कर दिया गया. योगी सरकार के इस फैसले से आजम खान काफी नाराज हो गये है. उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा की इतिहास गवाह है की जब भी किसी की सुरक्षा कम की गयी, उसकी हत्या हो गयी.

रामपुर में अपने आवास पर पत्रकारो से बात करते हुए आजम खान ने कहा की मेरी सुरक्षा को कम करने का मतलब यह है की मेरी हत्या की साजिश रची जा रही है. अभी कुछ दिन पहले ही मुझे दुसरे प्रदेशो से धमकी भरे पत्र मिले है. ये पत्र मैंने पुलिस अधीक्षक को सौपे है और वो इनकी जांच कर रहे है. पहले धमकी भरे पत्र आते है और फिर सुरक्षा कम कर ली जाती है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आजम खान ने आगे कहा की इसका क्या मतलब समझा जा सकता है. ये मेरी हत्या की साजिश रची जा रही है. उन्होंने कई उदहारण देते हुए कहा की इतिहास में पहले ही ऐसा हो चूका है की सुरक्षा कम करते ही उसकी हत्या कर दी गयी. मेरे साथ भी ऐसा ही हो रहा है. बताते चले की केवल आजम खान ही नहीं बल्कि अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव, रामगोपाल यादव और शिवपाल यादव समेत 100 लोगो की सुरक्षा श्रेणी घटाई गयी है.

वही योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद आजम खान उनके रडार पर है. योगी सरकार में अल्पसंख्यक मामलो के मंत्री मोहसिन रजा ने कुछ दिन पहले कहा था की सुन्नी वक्फ बोर्ड में हुए जमीन आवंटन मामले में हेराफेरी की गयी है. हम इस मामले की जाँच करायेंगे और दोषियों के ऊपर कर्यवाही की जाएगी. इसके अलावा आजम खान की रामपुर में बनी यूनिवर्सिटी पर भी सवाल उठाये जा रहे है.

Loading...