praka12

भारिपा बहुजन महासंघ (बीबीएम) के प्रमुख प्रकाश अम्बेडकर ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिममीन (एआईएमआईएम) के  वंदे मातरम् के अनिवार्य गायन के विरोध करने को अपना पूरा समर्थन करती है।

उन्होने कहा, “एआईएमआईएम राष्ट्रीय गान का विरोध नहीं करती बल्कि, केवल राष्ट्रीय गीत का करती है। हम भी इस मुद्दे पर पूरी तरह से उनका समर्थन करते हैं। जब हमारा राष्ट्रीय गान हैं तो हमें वंदे मातरम् के गायन की ज़रूरत क्यों है?

Loading...

अम्बेडकर ने हाल ही में असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाले एआईएमआईएम के साथ गठबंधन किया। उन्होंने कहा “वंदे मातरम् को ‘विरोध करना बेतुका नहीं है। बता दें ओवैसी पहले कह चुके है कि वंदे मातरम् की अनिवार्य गायन “असंवैधानिक” है और हिंदुत्व को बढ़ावा देने के लिए सत्तारूढ़ नरेंद्र मोदी सरकार इस पर जोर दे रही है।

अम्बेडकर ने राज्य के चार प्रमुख राजनीतिक दलों पर टिप्पणी की, जिसमें कहा गया कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) – शिवसेना गठबंधन के साथ-साथ विपक्षी कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने केवल विभाजक जाति राजनीति की भूमिका निभाई है।

उन्होंने कहा, “चार पार्टियों के पास उनके बारे में एक ऊपरी जाति की मानसिकता है,” उन्होंने कहा कि बीबीएम-एआईएमआईएम गठबंधन आगामी लोकसभा चुनाव में पिछड़े समुदायों के सबसे कमजोर सदस्यों को टिकट देगा।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें