झारखंड विधानसभा के तीसरे चरण के चुनाव के तैयारियों के बीच रविवार को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने धनवार, डुमरी और बोकारो में जनसभा को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा, ”अपने ख्वाब को पूरा करने का वक्त आ गया है। अब डर-डर कर मुकाबला नहीं होगा बल्कि बेबाक तरीके से हम अपनी बरारबरी के हक की लड़ाई लड़ेंगे।”

कोडरमा हुई जनसभा में उन्होंने केंद्र व राज्य की भाजपा सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि बेरोजगारी चरम पर है। ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लोग रोजगार मांगते हैं तो वे कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने, राम मंदिर बनवाने और ट्रिपल तलाक कानून लाने की बात करते हैं। वर्ष 2014 में भाजपा को झारखंड की जनता ने जिस विश्वास के साथ वोट दिया था, उस पर भाजपा ने पानी फेर दिया। महंगाई इस कदर बढ़ गई है कि यहां प्याज गरीबों के थाली से दूर हो गया है। नोटबंदी का असर आज भी भारत के गरीबों पर पड़ रहा है।

इसके अलावा मांडू विस क्षेत्र के विष्णुगढ़ और हजारीबाग विस क्षेत्र के छड़वा मुहर्रम मैदान में उन्होंने अपने प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने की अपील की। उन्होंने कहा कि मैं लीडर नहीं, कौम का खिदमतगार हूं। ओवैसी अपने भाषण में भाजपा और कांग्रेस दोनों पर हमलावर रहे। कहा कि कांग्रेस और भाजपा ऐसी पार्टी है, जिसने मुसलमानों पर हमेशा सितम ढाने की कोशिश की है। एक ने सामने से वार किया है, तो दूसरे ने पीछे से।

ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस व भाजपा दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, जिससे हमें दूरी बना कर रखना है। अपने भाषण में मॉब लिंचिंग, एनआरसी, रामजन्मभूमि बनाम बाबरी मस्जिद व तीन तलाक का जिक्र किया। कहा कि आज मुल्क में महंगाई, लूट व भ्रष्टाचार चरम पर है। प्याज का दाम आसमान छू रहा है।

उन्होंने कहा कि हर मजहब अमन व मोहब्बत का पैगाम देता है। मगर सियासी लोगों ने अपने फायदे के लिए हमें हिंदू और मुसलमान बना दिया। यह भी कहा कि मैं मुसलमानों का लीडर नहीं हूं और न ही बनना चाहता हूं। मैं लीडर नहीं, कौम का खिदमतगार हूं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन