पूर्व केंद्रीय मंत्री और वर्तमान सांसद ई अहमद की मौत के बावजूद आज केंद्रीय बजट पेश किए जाने को लेकर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने पीएम नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि एक वर्तमान सांसद की मौत के बावजूद भी संसद की कार्यवाही को स्थगित ना करके केंद्र ने गलत किया हैं. इसके बावजूद सरकार बजट पेश कर रही है.

लालू ने इस बारें में कहा कि ई. अहमद संसद के वरिष्ठ सदस्य थे, आज के दिन सदन की कार्यवाही स्थगित होनी चाहिए थी. आज बजट पेश करके सरकार ने असंवेदनशीलता और अमानवीयता दिखाई है. इसी के साथ लालू ने पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को जुड़वां भाई बताते हुए कहा कि ट्रंप अमेरिका में क्या कर देगा, यह किसी को मालूम नहीं है. वहीं नरेंद्र मोदी भी भारत में क्या कर देगा, कहना कठिन है.

उन्होंने आगे कहा कि ये लोग झाड़ू लगाना क्यों बंद किया? सफाई के लिए झाड़ू लगाये. पीएम को निशाना पर लेते हुए प्रसाद ने कहा कि उन्होंने कहा था कि बनारस को जापान का क्वेटो शहर बना देंगे. बनारस को कहा पहुंचा दिया? भाजपा को नारा देने वाली पार्टी बताते हुए उन्होंने कहा कि जन संघ के समय में कहता था कि हर हाथ को काम और हर खेत को पानी देंगे. कुछ नहीं दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लालू ने कहा कि बजट पूरी तरह आम जनता के लिये निराशाजनक है. बजट में रोटी,कपड़ा और मकान के लिये प्रावधान होना चाहिए जो बिल्कुल नहीं है. लालू ने कहा कि बजट में स्वास्थ्य और रोजगार पर भी ध्यान नहीं दिया गया है. राजद सुप्रीमो ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि नोटबंदी के फैसले के बाद छोटे-बड़े व्यापारियों ने जिस तरह सबकुछ झेला है, उनके लिये सरकार ने कुछ भी प्रावधान नहीं किया है.

पत्रकारों ने लालू से पूछा कि वह इस बजट को 10 में से कितने अंक देंगे? लालू ने कहा, यह परीक्षा में बैठने लायक ही नहीं है. जब परीक्षा में बैठेगा तब न अंक की बात आएगी.

Loading...