बिहार में NEET परीक्षा देने के दौरान कोरोना से संक्रमित छात्रा ने दम तोड़ दिया। छात्रा का पूरा परिवार भी कोरोना से संक्रमित है। छात्रा की मौत के पर समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होने कहा कि एक पार्टी के अहंकार ने एक मां-बाप के आंगन को सूना कर दिया।

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘NEET परीक्षा देने से संक्रमित हुई बिहार की छात्रा की मृत्यु बेहद दर्दनाक है। भाजपा सरकार के हठधर्मी अंहकार ने आखिरकार एक मां-बाप का आंगन सूना कर दिया। परिवार भी संक्रमित है। अब भाजपाइयों को समझ आया होगा कि जनता विरोध में क्यों थी। दुखद!’

इसके अलावा अखिलेश ने सरकार के स्कूल खोलने के विचार का भी विरोध किया और इसे असुरक्षित विकल्प बताया। उन्होंने कहा कि परिवार न होने के कारण भाजपा सरकार बच्चों का दर्द नहीं समझ पा रही है। सपा अध्यक्ष ने ट्वीट में लिखा “कोरोना काल में शिक्षण सत्र को निरंतर रखने के लिए स्कूल खोलना सुरक्षित विकल्प नहीं है।

अखिलेश ने आगे कहा, सरकार गरीब परिवारों में प्रति विद्यार्थी एक स्मार्ट फोन, नेटवर्क व बिजली उपलब्ध कराए। साथ ही टीचर्स को भी घरों पर डिजिटल अध्यापन के लिए निःशुल्क हार्डवेयर दे। भाजपा सरकार परिवारवालों से सलाह ले। उन्होने ट्वीट किया, कहा “चुनावी रैली के लिए लाखों एलईडी टीवी पर अरबों का प्रचार फ़ंड खर्च करने वाली वर्तमान सत्ता के पास क्या शिक्षार्थियों-शिक्षकों के लिए ऑनलाइन शिक्षण के लिए व्यवस्था करने का फ़ंड नहीं है?”

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano