कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के आपातकाल से जुड़े बयान के सामने आने के बाद महाविकास अघाड़ी में सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता और मंत्री नवाब मलिक ने गुजरात दंगों पर भाजपा और पीएम मोदी से माफ़ी की मांग की है।

मलिक ने कहा- राहुल गांधी ने 45 साल बाद स्वीकार किया कि इमरजेंसी का निर्णय गलत था, कहीं ना कहीं कांग्रेस ने अपनी गलतियों को स्वीकार किया है। उन्होंने दिल्ली के दंगों को लेकर माफी मांगी है और अब भारतीय जनता पार्टी की बारी है। प्रधानमंत्री मोदी जी और भारतीय जनता पार्टी यह स्वीकार करें कि गुजरात का दंगा गलत था और हम एक बार फिर भाजपा से यह सवाल करते हैं कि अगर कांग्रेस पार्टी गलतियों को सुधार रही है, तो वह कब अपनी गलतियों को स्वीकार करेंगे।

नवाब मलिक के इस बयान के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने राहुल गांधी के इस बयान को गांधीवादी बताते हुए कहा कि ये बयान बताता है कि कांग्रेस जनता के लिए काम करती है जबकि बीजेपी ने अब तक गोधरा दंगों के लिए माफी नहीं मांगी है। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी को भी ये मानना चाहिए कि गोधरा में जो सैकड़ों लोगों का नरसंहार हुआ था, वो बीजेपी की भूल थी।

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को अर्थशास्त्री प्रोफेसर कौशिक बसु के साथ बातचीत में यह स्वीकार किया कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का आपातकाल लगाने का फैसला एक भूल थी और कांग्रेस की विचारधारा ऐसा करने की अनुमति नहीं देती है। उन्होंने यह भी कहा कि इस भूल को उनकी दादी इंदिरा गांधी ने भी स्वीकार किया था।

इंदिरा गांधी ने 1978 में महाराष्ट्र में ही एक सभा में अपनी भूल को सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था। राहुल गांधी ने भी दूसरी बार इमरजेंसी को एक भूल के रूप में स्वीकार किया है।