Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

मनमोहन के ग़ुस्से ने बदले मोदी के बयान, पाकिस्तान छोड़ अमेरिका, इंग्लंड और ईवीएम पर दिया ज़ोर

- Advertisement -
- Advertisement -

modi manmohan 621x414

अहमदाबाद । गुजरात विधानसभा चुनाव अपने अंतिम चरण में है। दो दिन बाद दूसरे और अंतिम चरण के लिए मतदान होना है। चूँकि आज चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है इसलिए देश के दोनो मुख्य राजनीतिक दलो ने मतदाताओं को लुभाने के लिए अपनी पूरी ताक़त झोंक दी है। जहाँ मोदी जी सी प्लेन से उड़ान भरकर अंबाजी मंदिर पहुँचे वही राहुल गांधी ने भी जगन्नाथ मंदिर में माथा टेककर चुनाव प्रचार शुरू किया।

हालंकि आज चुनाव प्रचार का रोमांच थम जाएगा लेकिन ये चुनाव हाल फ़िलहाल के सबसे रोमांचकारी चुनाव के तौर पर ज़रूर याद रखे जाएँगे। एक महीने के चुनाव प्रचार के दौरान दोनो दलो के नेताओ की और से मर्यादाओं की सीमा लांघी गयी तो प्रधानमंत्री मोदी ने अपने पद की गरिमा को ताक पर रखते हुए कांग्रेस पार्टी पर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगा दिया।

पीएम मोदी ने डॉक्टर मनमोहन सिंह पर आरोप लगाया की वह मणिशंकर अय्यर के घर पर हुई एक गुप्त बैठक में शामिल हुए जहाँ पर पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री और पाक दूतावास के कुछ लोग भी मौजूद थे। इस बैठक में गुजरात चुनाव को लेकर चर्चा हुआ। इसके बाद ही मणिशंकर अय्यर ने उन्हें नीच कहा। मोदी ने यह भी आरोप लगाया की पाकिस्तान , अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने में सहयोग देने की पहल कर रहा है।

मोदी के इन आरोपो से मनमोहन सिंह काफ़ी आहत हुए और उन्होंने सोमवार को एक पत्र लिखकर अपनी पूरी भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि मैं मोदी जी के बयान पर दुखी और ग़ुस्सा हूँ। गुजरात में हार को देखते हुए मोदी जी बोखला गए है इसलिए इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगा रहे है। मणिशंकर अय्यर के घर पर गुजरात चुनाव को लेकर कोई बात नही हुई। वहाँ कुल 19 लोग मौजूद थे। जिसमें पूरे सेना अध्यक्ष दीपक कपूर का नाम भी शामिल है। मैं चाहता हूँ की मोदी जी अपने बयान के लिए माफ़ी माँगे।

इसके अलावा मनमोहन सिंह ने उन सभी 19 लोगों के नामो की सूची भी जारी की। मनमोहन के ग़ुस्से भरे पत्र के बाद मोदी ने अपनी रैली में थोड़ा संयम रखा और पाकिस्तान या अन्य किसी विवादित मुद्दे पर बोलने से बचते दिखे। सोमवार को अहमदाबाद में हुई रैली में मोदी ने इंग्लंड, अमेरिका जैसे देशों में योग के प्रसार की बात की। हालाँकि इस रैली में भी मोदी ने गुजरात के विकास मॉडल के बारे में एक भी शब्द नही कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles