नई दिल्ली: भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को ‘स्मार्ट’ बताते हुए केन्द्रीय मंत्री जुएल ओराम ने आदिवासियों को माल्या के नक्शेकदम पर चलने की नसीहत दी है। बता दें कि विजय माल्या भारतीय बैंकों के हजारों करोड़ रुपये लेकर विदेश में रह रहा है।

हैदराबाद में शुक्रवार को राष्ट्रीय जनजातीय उद्यमी कार्यक्रम में उन्होंने लोगों से कहा कि सिर्फ हार्डवर्क मत करो, स्मार्ट बनो। उरांव ने लोगों से कहा कि विजय माल्या ने चाहे कितने भी गलत काम किए हों लेकिन इन सबसे पहले उसने अपने कारोबार को सफल बनाया था। उसकी सफलता प्रेरित करने वाली है।

उन्होंने आगे कहा कि ‘विजय माल्या को आप लोग गाली देते हैं, लोकिन कौन है विजय माल्या? वह एक स्मार्ट व्यक्ति है, उसने पहले तो बुद्धिमान लोगों को काम के लिए रखा और बाद में बैंकों, सरकार और राजनीतिज्ञों को आपने प्रभाव में लिया।’

malya1

ओराम ने पूछा , ‘उसने (माल्या) उन्हें खरीदा. किसने आपको (स्मार्ट होने से) रोका है ? आदिवासियों से व्यवस्था को प्रभावित नहीं करने के लिए किसने पूछा ? किसने आपको बैंककर्मियों को प्रभावित करने से रोका।

उन्होंने कहा ,‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इच्छा है कि एससी और एसटी लम्बे समय तक रोजगार पाने वाले नहीं रहने चाहिए बल्कि वे रोजगार देने वाले होने चाहिए। हमें उनकी इच्छा को पूरा करना चाहिए. एक मंत्री के रूप में इसके लिए मैं प्रतिबद्ध हूं।’

हालांकि, बाद में मंत्री ने सफाई दी कि मैंने घटनावश विजय माल्या का नाम लिया। मुझे किसी और का नाम लेना चाहिए था। मुझे उसका नाम नहीं लेना चाहिए था, यह मेरी गलती थी।

Loading...