advani_650_061113045608

नई दिल्ली | संसद का शीतकालीन सत्र हंगामे की भेंट चढ़ चूका है. इस सत्र में केवल एक दिन बाकी है और संसद में कोई काम नही हो पा रहा है. संसद शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष हंगामा शुरू कर देते है , मजबूरन स्पीकर को सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ती है. पिछले एक महीने से यही चल रहा है. चौंकाने वाली बात यह है की सत्ता पक्ष की तरफ से सदन में खूब हंगामा किया जा रहा है.

इसी बात से व्यथित होकर , बीजेपी के बुजुर्ग नेता लाल कृष्ण आडवानी ने नाराजगी जाहिर की है. गुरुवार को जैसे ही लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित की गयी, लाल कृष्ण आडवानी अपनी जगह से नही उठे. उन्होंने गृह मंत्री राजनाथ सिंह और स्मृति ईरानी से काफी देर बात की. उन्होंने राजनाथ से संसद चलने देने का आग्रह किया. आडवानी ने राजनाथ से कहा की कल संसद सत्र का आखिरी दिन है, कल सदन में बहस होनी चाहिए.

इसके अलावा आडवानी ने स्पीकर के माध्यम से दोनों पक्षों में बात करने की भी सलाह दी जिससे कल संसद सुचारू रूप से चल सके. उधर टीएम्सी के सांसद इद्रीस अली ने चौकाने वाला खुलासा करते हुए कहा की आडवानी जी ने सदन में हो रहे हंगामे से व्यथित है. सदन की कार्यवाही न चलने से हो इतने आहत है की उन्होंने मुझेस कहा की सोचता हूँ , सांसद पद से इस्तीफा दे दूँ.

उधर गुरुवार को जैसे ही राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही शुरू हुई, सत्ता पक्ष ने अगस्ता वेस्टलैंड डील का मामला उठाया. कल हुए खुलासे में सामने आया है की इस डील में देश के किसी रसूखदार परिवार ने रिश्वत खाई है. इसी को मुद्दा बनाते हुए सत्ता पक्ष ने दोनों सदनों में खूब हंगामा किया. वही विपक्ष भी किरण रिजीजू और नोट बंदी के मुद्दे पर हंगामा कर रहा था. जिसकी वजह से लोकसभा को कल तक के लिए और राज्यसभा को 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन