आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन का आधिकारिक ऐलान हो गया। दोनों ही दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे और आम चुनाव के बाद विधानसभा चुनाव में भी इनका गठबंधन जारी रहेगा।

Loading...

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित ताज होटल में हुई साझा प्रेस वार्ता में बसपा सुप्रीमो ने गठबंधन का ऐलान करने के बाद कहा कि हम (बसपा और सपा) 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। हमने दो सीटें अन्य पार्टियों के लिए छोड़ी हैं, जबकि अमेठी और रायबरेली सीट कांग्रेस के लिए शेष रखी है।

उनके बाद सपा अध्यक्ष ने कहा कि गठबंधन के जरिए वे बीजेपी का अहंकार तोड़ेंगे। मायावती को प्रधानमंत्री पद पर समर्थन देने के सवाल पर अखिलेश ने कहा, “आपको पता है मेरा चुनाव क्या होगा। यूपी ने पूर्व में कई प्रधानमंत्री दिए हैं और इतिहास फिर से दोहराया जाएगा।”

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले उत्तर प्रदेश में शनिवार को बने सपा-बसपा गठबंधन का स्वागत किया। बनर्जी ने ट्वीट किया, ”आगामी लोकसभा चुनावों से पहले सपा और बसपा के गठबंधन का मैं स्वागत करती हूं।”

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आज पूरे देश में गठबंधनों की आवश्यकता है। 2014 में बीजेपी को केवल 31% वोट मिले थे और दावा किया था कि यह लोगों का जनादेश है। यह वोटों में विभाजन के कारण हुआ था।

वहीं, राजद नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि गठबंधन से उत्तर प्रदेश और बिहार में बीजेपी की हार की शुरुआत हो गई है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें