दिल्ली के उत्तरी इलाके रोहिणी में स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय पर धर्म और आस्था के नाम पर महिलाओं के शारीरिक शोषण के खुलासे के बाद आम आदमी पार्टी ने सवाल उठाते हुए भारतीय जनता पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए है.

रविवार शाम को प्रेस कांफ्रेंस कर आप नेता संजय सिंह ने सवाल उठाते हुए कहा, ‘एक व्यक्ति आध्यात्मिक विश्वविद्यालय खोलता है, उसे विश्वविद्यालय खोलने की मान्यता कहां से मिली, ये नहीं पता?’

उन्होंने कहा, ‘स्थानीय लोगों ने बार-बार शिकायत की कि वहां महिलाओं-बच्चियों का शोषण होता है. जिनकी बच्चियां वहां थीं, उन अभिभावकों को उनकी बच्चियों से मिलने नहीं दिया जाता. इन सब शिकायतों के बाद स्थानीय डीसीपी जांच करते हैं और क्लीन चिट दे देते हैं कि यहां कुछ भी गड़बड़ नहीं है.’

आप नेता ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये कोई सामान्य मामला नहीं है. ये राजनीतिक संरक्षण और पुलिस के मिले-जुले खेल का मामला है. इसमें भाजपा के लोग सीधे तौर पर शामिल हैं.’  संजय सिंह ने कहा, भाजपा के नेताओं को नियमित रूप से हफ्ता और महीना पहुंचता है.

ध्यान रहे दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आश्रम से 41 नाबालिग लड़कियों को रिहा करवाया है. इसके अलावा एक हफ्ते में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली के कई इलाकों में इस बाबा के आश्रमों पर छापा मारकर 125 के करीब महिलाओं को छुड़वाया गया है. हालांकि आरोपी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित अब भी गायब है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?