"I became chairman of FTII longer-form '

वरिष्ट नेता लालकृष्ण आडवाणी के पक्के समर्थकों में से एक बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि पार्टी के 80 फीसदी लोग आडवाणी को राष्ट्रपति के रूप में देखना चाहते थे.

एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा कि मेरी 80 फीसदी पार्टी लालकृष्ण आडवाणी को राष्ट्रपति के तौर पर चाहती थी. सिन्हा ने आडवाणी को अपना दोस्त, दार्शनिक, मार्गदर्शक, गुरु और अपना अंतिम नेता बताया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पार्टी छोड़े जाने के सबंध में शत्रुघ्न ने कहा, “बीजेपी मेरी पहली, आखिरी और एक मात्र पार्टी है. मैंने इसे तब ज्वाइन किया था जब संसद में इसके केवल दो सांसद थे.” इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह को परोक्ष रूप से निशाना साधा और कहा कि अब है “टू मेन आर्मी.”

उन्होंने बताया कि “मैंने कुछ हफ्ते पहले प्रधानमंत्री से मिलने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने मुझे समय नहीं दिया. हालांकि वह मेरे बेटे के विवाह के लिए आए थे, जिसके लिए मैं उनका बहुत आभारी हूं.”

साथ ही उन्होंने कहा, मैं केवल एक था जिससे प्रधानमंत्री या किसी ने नहीं पूछा. मेरे लिए प्रचार सिर्फ  सोनाक्षी सिन्हा (उनकी बेटी और अभिनेत्री) ने किया और फिर भी मैं सबसे बड़े वोट शेयर के साथ जीता.”

Loading...