Friday, September 17, 2021

 

 

 

CAA-NRC को लेकर बीजेपी में बवाल जारी, 76 मुस्लिम नेताओं ने छोड़ी भाजपा

- Advertisement -
- Advertisement -

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर बीजेपी डोर टु डोर अभियान चला रही है। लेकिन पार्टी के भीतर ही इस कानून के खिलाफ काफी गुस्सा है। विशेषकर मुस्लिम नेताओं में। एक के बाद एक मुस्लिम नेता अब बीजेपी को अलविदा कह रहे है।

ताजा मामला मध्य प्रदेश का है। जहां 76 मुस्लिम भाजपा कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने संशोधित नागरिकता कानून और प्रस्तावित एनआरसी के विरोध में पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय के करीबी माने जाने वाले रजिक कुरैशी फरशीवाला ने द इंडियन एक्सप्रेस को फोन पर बातचीत में बताया कि “हम ही जानते हैं कि अपने समुदाय के लोगों को भाजपा को वोट देने के लिए मनाना हमारे लिए कितना मुश्किल था, लेकिन अब भाजपा लगातार ऐसे मुद्दों पर बात कर रही है, जिससे हमारे लिए मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं।”

इससे पहले भोपाल में बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ  के 48 सदस्यों ने सीएए का विरोध करते हुए पार्टी छोड़ दी। इन कार्यकर्ताओं ने पार्टी के भीतर भेदभाव की शिकायत की है। इनका आरोप है कि पार्टी के कुछ सदस्यों ने एक समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

इसके अलावा 27 दिसंबर को महाराष्ट्र के लातूर में भी  के अल्पसंख्यक मोर्चा के 100 मुस्लिम नेताओं ने पार्टी को अलविदा कह दिया। इस दौरान जिला प्रमुख अफजल खान और पूर्व मेयर अख्तर शेख ने कहा कि “नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) और प्रस्तावित राष्ट्रीय रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स (NRC) संविधान के खिलाफ और मुसलमानों के खिलाफ है। हमारे समुदाय के साथ अन्याय हो रहा है। इस अन्याय को सक्षम करने वाली पार्टी के साथ रहना हमारे लिए तर्कहीन और समझ से परे है। ”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles