Friday, July 30, 2021

 

 

 

52 साल तक तिरंगे का आदर नहीं किया, आज ये देशभक्ति की बात करते हैं: राहुल गांधी

- Advertisement -
- Advertisement -

ऋषिकेश में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को पार्टी के प्रदेश बूथ को-ऑर्डीनेटर्स को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी की अचानक घोषणा करके मोदी ने ग़रीबों की जेबों को ख़ाली किया और अमीरों को नवाज़ा.राहुल गांधी का कहना था कि मोदी जी ने रिज़र्व बैंक की अवहेलना करके केवल एक मिनट में साठ-सत्तर साल पुरानी संस्था की और हिंदुस्तान की आर्थिक आत्मा की हत्या कर दी.

खादी उद्योग के कैलेंडर और डायरी में महात्मा गांधी की तस्वीर के स्थान पर मोदी की चरख़े के साथ छपी तस्वीर की निंदा करते हुए कहा, चरख़े का मतलब है हिंदुस्तान के ग़रीब लोगों का ख़ून पसीना, कमज़ोरों को आर्थिक प्रगति से जोड़ना. एक तरफ मोदी जी चरखे के साथ फोटो लेते हैं और दूसरी तरफ वह हर समय 50 उद्योगपतियों से घिरे रहते हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि उन्हें यह बात समझ नहीं आती है कि बीजेपी और आरएसएस कांग्रेस को क्यों खत्म करना चाहती है. उन्होंने कहा, ‘7-8 महीने से मैं रिसर्च कर रहा हूं, यहां तक कि अपनी पार्टी के बारे में गूगल पर सर्च भी किया, लेकिन समझ नहीं पाया कि क्यों BJP-RSS हमारी पार्टी को खत्म करना चाहते हैं.’

राहुल ने तिरंगे का जिक्र करते हुए कहा कि तिरंगे के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी. तिरंगे के लिए जवान गोली खाते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस ने 52 साल तक तिरंगा नहीं फहराया. नागपुर में आरएसएस के दफ्तर पर तिरंगा नहीं था.

राहुल गांधी ने कहा कि मोदीजी ने पूरे देश को डराकर रखा है. कहते हैं कि पेटीएम नहीं है तो यहां से बाहर निकलो. जिस तरह एक मिनट में नोटबंदी का फैसला लिया, वैसे ओआरओपी का क्यों नहीं लिया? इसी के साथ उन्होंने कहा कि मोदीजी खादी के प्रतिनिधि बन गए है. एक मंत्री कहते हैं कि मोदी, गांधीजी से भी बड़े ब्रांड हैं. अब रामलीला में भगवान राम भी मोदी का मास्क पहनेंगे. अब हर जगह मोदी ही दिखेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles