जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले को लेकर मुसलमानों के देशप्रेम पर सवाल उठाने वालों को आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कड़ा जवाब दिया है.

ओवैसी ने कहा ” 7 में से 5 लोग जो मारे गए हैं वो कश्मीरी मुसलमान थे. अब इस पर क्यों कुछ नहीं बोला जा रहा है. इससे सबक हासिल करना पड़ेगा उन लोगों को जो मुसलमानों की वफादारी पर शक करते हैं, जो उनको आज भी पाकिस्तानी कह रहे हैं. हम तो जान दे रहे हैं.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने सवाल उठाया कि रोज रात में 9 बजे टीवी चैनल के ऊपर मुसलमानों की नेशनलिज्म पर सवाल उठाये जाते हैं, कश्मीरियों पर इल्जाम लगाये जाते हैं, अब 7 में से 5 मरने वाले कश्मीरी मुसलमान हैं, अब इसके ऊपर क्यों नहीं बोला जा रहा है कि मरने वाले भी कश्मीरी मुसलमान हैं, इस पर पूरे मुल्क में खामोशी क्यों हैं, सन्नाटा क्यों हैं?

AIMIM प्रमुख ने आगे कहा कि ”बीजेपी-पीडीपी वाले दोनों बैठ कर मलाई खा रहे हैं, ये इनकी नाकामी है, कब तक ड्रामा करते रहेंगे ये लोग, अब ये सोचना है कि इन चीजों की ज़िम्मेदारी किसकी होगी”.

बता दें कि सुंजवान सैन्य शिविर पर हमले में मरने वालों की संख्या सात हो गई हैशहीद जवानों में मदन लाल चौधरी, मोहम्मद अशरफ, हबीबुल्लाह कुरैशी, इकबाल शेख, मंजूर अहमद, राकेश चन्द्र शामिल हैं. इसके अलावा इकबाल शेख के पिता मोहिद्दीन शेख भी हमले में मारे गये.

Loading...