नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार बनने पर देश के 20 प्रतिशत गरीबों को प्रत्येक महीने 12 हजार रुपए दी जाएगी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह रकम उन्हें बेसिक इनकम गारंटी स्कीम के तहत मिलेगी। राहुल गांधी ने कहा कि उनका लक्ष्य 25 करोड़ लोगों को गरीबी के दायरे से ऊपर उठाना है।

उन्होंने कहा कि इस योजना का लाभ पांच करोड़ परिवारों के 25 करोड़ लोगों को मेलेगा। यह राशि सीधे उनके बैंक खातों में भेजी जाएगी। राहुल ने कहा कि गरीबों को राहत पहुंचाने की इस योजना का आकलन कर लिया गया है और इस तरह की योजना पूरी दुनिया में नहीं है।

Loading...

राहुल ने कहा कि हम गरीबी मिटा देंगे। हमारा कहना है कि अगर आप काम कर रहे हो तो महीने में 12 हजार रुपए से आय कम से कम होनी चाहिए। हिंदुस्तान में अगर मिनिमम इनकम से कम आमदनी है तो यह आय बढ़ाने की कोशिश होगी। जिससे गरीबी से निकाला जा सकता है। यह सेकेंड फेज में 25 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाल देगी। इस योजना को हम आगे लाकर दिखाएंगे।

नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेते हुए राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री की पॉलिटिक्स से दो हिंदुस्तानी झंडा है। एक अनिल अंबानी झंडा और दूसरा गरीबी के लिए। 21वीं सदी में हिंदुस्तान में इस देश में गरीबी को हटाना है। यह स्कीम नहीं है, यह अब गरीबी पर आखिरी पड़ाव है।

उन्होंने कहा कि हम दो हिंदुस्तान नहीं बनने देंगे, यह अमीरों और गरीबों दोनों का ही देश होगा। ऐसे में गरीबों को भी इज्जत दिलाना चाहता हूं। वहीं, राहुल के इस कदम की आलोचना करते हुए भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि यह व्यावहारिक फैसला नहीं है और लोकसभा चुनाव को देखते हुए उन्होंने इस तरह का वादा किया है।

स्वामी ने पूछा कि राहुल को यह बताना चाहिए कि वह इतनी बड़ी राशि कहां से लोगों तक पहुंचाएंगे। राहुल ने अपनी इस योजना को लोगों के साथ न्याय करने वाला बताया है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें