Saturday, September 18, 2021

 

 

 

सरकारी एजेंसियों को कॉल इंटरसेप्ट की मंजूरी देने पर भड़के ओवैसी

- Advertisement -
- Advertisement -

आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर से मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। इस बार उन्होने आईबी और दिल्ली पुलिस कमिश्नर समेत कुल 10 एजेंसियों को कॉल या डेटा इंटरसेप्ट करने की मंजूरी देने को लेकर मोदी सरकार की आलोचना की है।

ओवैसी ने एक ट्विट करते हुए तंज कसा कि अब समझ में आया कि घर-घर मोदी का मतलब क्या है। उन्होंने कहा, ” मोदी ने राष्ट्रीय एजेंसियों को हमारी बातचीत की जासूसी का आदेश पारित कर दिया है।” गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के प्रचार में ‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी’ का नारा काफी मशहूर हुआ था।

ध्यान रहे गृहमंत्रालय ने सुरक्षा का हवाला देते हुए 10 एजेंसियों जिसमें नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट, रॉ, आईबी आदि शामिल हैं। एजेंसियों को यह अधिकार आईटी एक्ट की धारा-69 के तहत दिया गया है।

इसके मुताबिक यदि एजेंसियों को किसी संस्थान या व्यक्ति पर देशविरोधी गतिविधियों में शामिल होने का शक होता है तो वे उनके कंप्यूटर, मोबाइल आदि की जांच कर सकती हैं। इस बारे में सभी को आदेश जारी किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles