मायावती ने मुलायम सिंह यादव के खिलाफ केस लिया वापस, गेस्ट हाउस कांड से जुड़ा है मामला

11:38 am Published by:-Hindi News

1995 के चर्चिच लखनऊ गेस्ट हाउस कांड मामले में बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुलायम सिंह यादव के खिलाफ केस वापस ले लिया है। कहा जाता है कि इस कांड के बाद ही दोनों राजनीतिक दल एक-दूसरे के कट्टर विरोधी हो गए थे।

मायावती ने बताया कि अखिलेश ने उनसे केस वापस लेने के लिए कई बार कहा था इसलिए उन्होंने ये निर्णय लिया। बता दे कि मुलायम सिंह को इस मामले में आरोपी बनाया गया था। इस मामले में सपा की ओर से पुष्टि नहीं हो पाई।

एसपी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया, ‘‘मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। शुक्रवार को इसका पता लगाया जाएगा, जिसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है।’’ वहीं, बीएसपी के एक अन्य नेता ने बताया कि यह केस सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग था। वहीं बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने लखनऊ गेस्ट हाउस कांड मामले पर कहा कि मायावती ने 24 साल पुराने गेस्ट हाउस कांड में दर्ज केस को वापस ले लिया है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव एक साथ लड़ने के बाद तकरीबन पांच महीने तक दोनों दलों के बीच गठबंधन बरकरार रहा, लेकिन चुनाव में खराब प्रदर्शन के चलते दोनों के बीच गठबंधन टूट गया था।

गेस्ट हाउस कांड

2 जून 1995 को मायावती लखनऊ के स्टेट गेस्ट हाउस के कमरा नंबर एक में अपने विधायकों के साथ बैठक कर रही थीं। तभी दोपहर करीब तीन बजे कथित समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं की भीड़ ने अचानक गेस्ट हाउस पर हमला बोल दिया। कांशीराम के बाद बीएसपी में दूसरे नंबर की नेता मायावती उस वक्त को जिंदगी भर नहीं भूल सकतीं. उस दिन एक समाजवादी पार्टी के विधायकों और समर्थकों की उन्मादी भीड़ सबक सिखाने के नाम पर दलित नेता की आबरू पर हमला करने पर आमादा थी।

मायावती के जीवन पर आधारित अजय बोस की किताब ‘बहनजी’ में गेस्टहाउस में उस दिन घटी घटना की जानकारी विस्तार से देता है। बताया जाता है कि, 1995 के गेस्टहाउस कांड में जब कुछ कथित तौर पर सपा के गुंडों ने बसपा सुप्रीमो मायावती को कमरे में बंद करके मारा और उनके कपड़े फाड़ दिए थे।

किसी तरह मायावती ने अपने को कमरे में बंद किया था और बाहर से समाजवादी पार्टी के विधायक और समर्थक दरवाजा तोड़ने में लगे हुए थे। इस बीच, कहा जाता है कि अपनी जान पर खेलकर बीजेपी विधायक ब्रम्हदत्त द्विवेदी मौके पर पहुंचे और सपा विधायकों और समर्थकों को पीछे ढकेला।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें