हैदराबाद:  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की नफरत और विभाजन की विचारधारा साझा करने वाली पार्टी बताया। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि दोनों पार्टियों की विचारधारा और सोच एक जैसी है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार प्रधानमंत्री और उनके अनुयायी नफरत फैलाने और देश को बांटने में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि पूरे देश में दलित, आदिवासी, मुसलमान, महिलाएं और अन्य कमजोर वर्ग के लोग नफरत की इस विचारधारा से भयभीत हैं।

राहुल ने कहा, “यह देश किसी एक धर्म या जाति या क्षेत्र का नहीं है। यह सभी लोगों का देश है।” उन्होंने कहा कि देश का संविधान हर भारतीय को शांतिपूर्वक रहने का अधिकार देता है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ऐतिहासिक चार मीनार से जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी, टीआरएस और एमआईएम मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि टीआरएस प्रमुख के. चंद्रशेखर राव ने नोटबंदी का समर्थन किया था, जबकि दुनियाभर के अर्थशास्त्रियों ने इस सबसे बड़ी भूल बताई है।

कांग्रेस अध्यक्ष हैदराबाद के चारमीनार पर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की याद में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत कर रह थे। राहुल ने यहा सांप्रदायिक सद्भावना को बढ़ावा देने के मकसद से सद्भावना यात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया।

Loading...