rahu1

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तमिलनाडु के तूतिकोरिन जिले में बहुराष्ट्रीय कंपनी वेदांता के स्टरलाइट तांबा संयंत्र का विरोध कर रहे लोगों पर हुई गोलीबारी की निंदा करते हुए कहा कि आरएसएस की विचारधारा को मानने से इनकार करने पर तमिलों को नरसंहार किया गया.

राहुल ने ट्वीट कर कहा, तमिलों की हत्या की जा रही है क्योंकि वे आरएसएस की विचारधारा के सामने नहीं झुक रहे. आरएसएस और मोदी की गोलियों से तमिल लोगों की भावनाओं को नहीं कुचला जा सकता. तमिल भाइयों – बहनों , हम आपके साथ हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राहुल ने मंगलवार को पुलिस गोलीबारी को सरकार प्रायोजित आतंकवाद की बर्बर मिसाल करार दिया था और कहा था कि अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने वाले नागरिकों की हत्या की गई है.

मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना जताते हुए उन्होंने लिखा था, ‘प्रदर्शनकारियों पर पुलिस फायरिंग राज्य प्रायोजित आतंकवाद का क्रूर उदाहरण है. अन्याय का विरोध करने की वजह से इन नागरिकों की हत्या की गई है.’ बता दें कि तूतिकोरिन में संयंत्र से हो रहे प्रदूषण का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच संघर्ष में 11 लोग मारे गए हैं और कई घायल हो गए हैं.

इस मामले में आरएसएस ने कहा कि ‘ हताश ’ कांग्रेस अध्यक्ष अपनी पार्टी का खोया समर्थन दोबारा पाने के लिये समाज में और विभाजन पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं. आरएसएस के संयुक्त महासचिव मनमोहन वैद्य ने एक वक्तव्य में कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जाति , धर्म और धार्मिक पहचान से ऊपर उठकर राष्ट्र के हित में भारत के लोगों को एकजुट करने के लिये लगातार काम कर रहा है.

Loading...