UP BJP चीफ ने कार्यकर्ताओं से कहा- दलितों के साथ पिएं चाय फिर मांगें VOTE

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा की रणनीति दलित वोटों को अपने साथ लाना है। भारतीय जनता पार्टी की मंशा है कि इस बार चुनाव में दलित वोट अधिक से अधिक जुड़ें। इसी को लेकर पार्टी आलाकमान पार्टी कार्यकर्ताओं को दलितों के साथ जुड़ने की बात कर रही है। इसको लेकर यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं को सलाह दी है कि वो दलितों के पास जायें और उनके साथ निकटता बनायें।

रविवार को अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और उच्च जाति समुदायों के पार्टी कार्यकर्ताओं को स्वतंत्र देव सिंह ने सलाह देते हुए कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता दलितों के साथ चाय और खाना खाएं और उन्हें आगामी विधानसभा चुनाव में राष्ट्रवाद के मुद्दे पर पार्टी को वोट देने के लिए मनायें। बता दें कि स्वतंत्र देव सिंह ने यह बात ओबीसी सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन और वैश्य व्यापारी सम्मेलन में कही।

स्वतंत्र देव ने कार्यकर्ताओं को नसीहत दी कि वे 100 दलितों के साथ में चाय पिएं। वहीं, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा मोर्चा द्वारा आयोजित सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन की श्रृंखला में मौर्य, कुशवाहा, शाक्य, सैनी समाज के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा, तालिबान का समर्थन मतलब मानवता विरोधी शक्तियों को समर्थन देना है।

इससे पहले पार्टी के ओबीसी मोर्चा द्वारा आयोजित सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन में सिंह ने कहा, ”मैं आपसे अपील कर रहा हूं कि आप अपने समुदायों के बीच जाते हैं तो दलितों, शोषित और वंचित परिवारों के एक हजार से अधिक घरों में कम से कम एक बार चाय जरूर पीएं। अगर आपको वहां चाय की पेशकश की जाती है, तो इसका मतलब है कि उनके बीच आपकी छवि ठीक है।”

विज्ञापन