योगी आदित्यनाथ से पूछा सवाल ताज महल भारतीय संस्कृति का प्रतीक चिन्ह है या नहीं? मिला ये जवाब

वर्ष 2022 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव हैं इस चुनाव की तैयारी में सभी राजनीतिक दल तैयारी भी कर रहे हैं जिसको देखते हुए सियासी हलचल भी तेज हो गई है। ऐसे में बीजेपी के सीएम योगी आदित्यनाथ खूब जमकर प्रचार कर रहे हैं। गृह मंत्री अमित शाह ने यह साफ कर दिया है कि अगर यूपी में बीजेपी की सरकार बनती है तो सीएम योगी आदित्यनाथ ही बनेंगे।

 

हालांकि इससे पहले बीजेपी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार को लेकर सियासी गलियारों में कई आशंकाएं लगाई जा रही थी। परंतु गृह मंत्री अमित शाह ने इन सभी विचारों पर विराम लगा दिया है। ऐसे में सीएम योगी आदित्यनाथ का एक पुराना इंटरव्यू खूब ही वायरल हो रहा है। एबीपी न्यूज़ के कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ से ताजमहल को लेकर सवाल किया गया था। लेकिन योगी आदित्यनाथ सवाल को सुनने से पहले ही मुस्कुराने लगते हैं।

ताजमहल अखिल भारतीय संस्कृति का प्रतीक चिन्ह है या नहीं? आपका इस पर क्या कहना है। पिछले कुछ दिनों पहले आप ने कहा कि यह ताजमहल को प्रतीक चिन्ह के रूप में देखते हैं लेकिन असल में ऐसा नहीं है। इसके जवाब में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था, सभी भारतीयों को रामायण की परंपरा और वेदों, पुराणों की परंपरा पर गौरव की अनुभूति होनी चाहिए। हम लोग रामायण और श्रीमद् भगवत गीता मानने वाले लोग हैं इस पर गौरव करने की जगह बहुत से लोग लज्जित महसूस कर रहे हैं उन लोगों की बुद्धि पर मुझे तरस आता है।’

इस देश के अंदर ऋषि परंपरा ‌ राष्ट्रीयता के लिए समर्पित रही है। राजनीति को एक मंच बनाकर हम भी राष्ट्रीयता के लिए कार्य कर रहे हैं। राजनीति के मंच का इस्तेमाल करके हम लोग समाज कल्याण कर रहे हैं। हम लोग समाज में कभी जाति, पंथ और मजहब के आधार पर भेदभाव नहीं करते।

विज्ञापन