क्या ओवैसी और अखिलेश यादव को मिलकर चुनाव लड़ना चाहिए? भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर से पूछा सवाल तो मिला ये जवाब

वर्ष 2022 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को देखते हुए सभी राजनीतिक दल अपनी अपनी तैयारियों में लग गए हैं। ऐसे में समाजवादी पार्टी के लिए अखिलेश यादव काफी जोर-शोर से प्रचार कर रहे हैं। अखिलेश यादव ने इस बार साफ कर दिया था कि वह इस चुनाव में किसी बड़े दल के साथ गठबंधन नहीं करेंगे।

इस क्रम में उन्होंने छोटे दलों के साथ गोलबंदी शुरू कर दी है। भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर रावण की अखिलेश यादव से मुलाकात करने की चर्चा पर कई खबरें सामने आ रही हैं। परंतु अभी तक अखिलेश ने इन चर्चाओं को अफवाह बताते हुए खारिज किया है।

साथ ही बता दें चंद्रशेखर आजाद से अखिलेश और असदुद्दीन ओवैसी के गठबंधन को लेकर कुछ सवाल किए गए थे। चंद्रशेखर से सवाल पूछा गया था, असदुद्दीन ओवैसी मुसलमानों के हित और उनके अधिकार की बात करते हैं क्या इन दोनों को एक साथ आना चाहिए या नहीं? इसके बाद आजाद ने जवाब दिया यह बात वह दोनों ही बता सकते हैं।

आप लोग मुझसे मेरे विषय में पूछते तो मैं आपको कुछ बता भी सकता लेकिन पार्टी की कुछ गाइडलाइन होती हैं तो मुझे भी उसे मानना होगा यही वजह है कि मैं किसी अन्य दल पर टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं। उन्होंने कहा यह पहली बार नहीं है जब राजनीतिक दल अधिकारों की लड़ाई लड़ा रहे हैं। ऐसा पहले भी होता आया है।

विज्ञापन