rampal new 1539228982 618x347

हिसार । हत्या के दो मामलों में संत रामपाल को अदालत ने दोषी क़रार दिया है। अदालत का फ़ैसला आने के बाद पूरे हिसार को क़िले में तब्दील कर दिया गया है। सुरक्षा के पुख़्ता इन्तज़ाम किए गए है। इसके लिए  हिसार के 1300 पुलिसकर्मी, बाहरी जिलों से 700 जवान, RAF की 5 कंपनियां और हरियाणा पुलिस के 12 SP की ड्यूटी लगाई गई है। वही अदालत परिसर के 3 किलोमीटर के दायरे में किसी बाहरी को जाने की इजाज़त नही है।

गुरुवार को हत्या के दो मामले में हिसार की विशेष अदालत ने संत रामपाल को दोषी क़रार दिया। यह फ़ैसला सुनाने के लिए हिसार की जेल में ही अदालत लगायी गयी थी। फ़िलहाल फ़ैसला आने के बाद पुलिस और प्रशासन ने किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए हिसार में धारा 144 लगा दी है। रामपाल के भक्तों के सम्भावित जमावड़े को देखते हुए यह फ़ैसला लिया गया।

जिन मामलों में रामपाल को दोषी क़रार दिया गया उनमें उन्ही की एक महिला भक्त की संदिग्ध मौत का मामला शामिल है। इसके अलावा दूसरा मामला उस हिंसा से जुड़ा हुआ है जिसमें पुलिस और रामपाल भक्तों के बीच हुई झड़प में क़रीब 4 महिला और एक बच्चे की मौत हो गयी थी। उस समय यह संघर्ष क़रीब 10 दिनो तक चला था। मामले में सज़ा का एलान 16 एवं 17 अक्टूबर को किया जाएगा।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बताते चले की संत राम रहीम के दोषी क़रार दिए जाने के बाद चंडीगढ़ में उनके भक्तों ने ख़ूब बवाल मचाया था। उस समय हरियाणा सरकार की काफ़ी फ़ज़ीहत हुई थी। इसलिए इस बार ऐसी किसी घटना से बचने के लिए फ़ैसला आने के 48 घंटे पहले ही सुरक्षा को चाक चौबंद कर दिया गया था। बताया जा रहा है की पुलिस प्रशासन ने शहर के चेक नाकों पर सोमवार से ही पुलिसकर्मियों की तैनाती को बढ़ा दिया था। ये जवान 15 अक्टूबर तक यहां तैनात रहेंगे।

Loading...