sahara-1-620x400

नई दिल्ली | कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर सहारा और बिडला से रिश्वत लेने का आरोप लगाया है. सबूत के तौर पर केजरीवाल ने सहारा की उस डायरी का उल्लेख किया जिसे आयकर विभाग ने छापेमारी के दौरान जब्त की थी. केजरीवाल ने बताया की इस डायरी में मोदी को पैसा देने का जिक्र है.

इस डायरी में उन सब नेताओ के नाम है जिनको सहारा की तरफ से पैसे दिए गए. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार डायरी में ऐसे 11 पेज मौजूद है जिसमे उन नेताओ के नामो का जिक्र है जिनको सहारा की और से पेमेंट की गयी . इसमें करीब 18 दलों के 100 नेताओ के नाम है. इसके अलावा आयकर विभाग की छापेमारी में कुछ हाथ से लिखे हुए कागजात भी बरामद हुए. इन कागजातों में 2010 के दौरान किन किन नेताओ को पैसे दिए गए इसकी पूरी डिटेल है. हालांकि आयकर अधिकारियो के अनुसार यह डिटेल झूठी भी हो सकती है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

डायरी में ही छह महीने के दौरन 9 एंट्री की गयी है. इसमें लिखा गया है की किस किस समय गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को पैसे दिए गए. मोदी को दी गयी कुल रकम करीब 40 करोड़ रूपए है. अब यह जांच में ही साफ़ हो पायेगा की सहारा की डायरी में मौजूद एंट्री सच है या झूठ.

मालूम हो की 2013 से 2014 के बीच आयकर विभाग ने सहारा और बिडला के यहाँ छापे मारे थे. इन छापो में आयकर विभाग को कुछ कागजात मिले. इन कागजातों में उन सभी नेताओ के नाम मौजूद थे जिनको सहारा और बिडला ने रिश्वत दी. इन्ही कागजातों को आधार बनाकर केजरीवाल और राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर सहारा और बिडला से रिश्वत लेने का आरोप लगाया.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार सहारा की डायरी में जिन दलों के नेताओ के नाम है उनमे बीजेपी, कांग्रेस, राजद, सपा, रांकपा , जेएम्एम् , जेवीएम् और टीएम्सी शामिल है. इस डायरी के आधार पर जाने माने वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका डाली थी. प्रशांत भूषण ने मोदी पर आरोपों की जांच करने की मांग की. जिस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को और सबूत इकठ्ठा करने को कहा है.

Loading...