नई दिल्ली | भोपाल-उज्जैन एक्सप्रेस में बम विस्फोट के बाद, पकडे गए संदिग्धों की सूचना के आधार पर यूपी एटीएस ने ,लखनऊ के ठाकुरगंज में , मुठभेड़ के दौरान संदिग्ध आतंकी सैफुल्ला को मार गिराया. देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले की पूरी जानकारी संसद के सामने रखते हुए कहा की सैफुल्ला के पिता ने अपने बेटे का शव लेने से मना कर दिया.

राजनाथ सिंह ने सैफुल्ला के पिता मोहम्मद सरताज को देश का गौरव बताते हुए कहा की पुरे सदन को उनके साथ सहानभूति होनी चाहिए. राजनाथ सिंह ने बताया की यूपी पुलिस से मुलाकात के दौरान सैफुल्ला के पिता ने कहा की जो देश का न हुआ वो मेरा क्या होगा. मुझे उसका मुंह तक नही देखना. सरताज ने देश को आगे रखते हुए कहा की देश पहले है , देशहित के खिलाफ काम करने वाले का शव मुझे नही चाहिए.

राजनाथ सिंह ने आगे बताया की एक पिता ने अपने भटके हुए बेटे के लिए यह बात कही इसलिए उनके दुःख में हम सबको सहानभूति होनी चाहिए. मामले की जानकारी देते हुए राजनाथ ने बताया की ट्रेन बम विस्फोट के बाद से अब तक 6 संदिग्धों की गिरफ्तारी हो चुकी है. मंगलवार को कानपुर से पकडे गए दो संदिग्धों की निशानदेही पर लखनऊ के ठाकुरगंज में घर को घेरा गया.

राजनाथ ने बताया की घर में छिपे सैफुल्ला को सरेंडर करने के लिए काफी समय दिया गया. लेकिन उसके नही मानने पर एटीएस को घर में घुसना पड़ा. आमने सामने की फायरिंग में सैफुल्ला मारा गया. ट्रेन बम ब्लास्ट से लेकर लखनऊ एनकाउंटर तक की जांच एनआईसे कराने का फैसला किया गया है. राजनाथ ने यह भी बताया की कानपुर के जाजमऊ से एक और संदिग्ध की गिरफ़्तारी हुई है जिसके बाद गिरफ्तार हुए संदिग्धों की संख्या छह हो गयी है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?