नई दिल्ली | राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के अभिभाषण के साथ ही संसद का बजट सत्र आरम्भ हो गया. अभिभाषण के दौरान राष्ट्रपति ने मोदी सरकार की उपलब्धियों का बखान करते हुए कहा की सरकार ने भ्रष्टाचार और बेरोजगारी दूर करने के लिए काफी कारगार कदम उठाये है. राष्ट्रपति ने मोदी सरकार के नोट बंदी के फैसले का भी समर्थन किया. उधर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर निशाना साधा है.

राहुल ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा की यह सरकार युवाओं को रोजगार देने में बिलकुल असफल रही है. इसके अलावा भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए भी कोई कारागार कदम नही उठाया गया. हम सरकार से पूछते है की आखिर उन्होंने देश के युवाओं के लिए क्या किया है? मोदी सरकार बताये की युवाओं के लिए रोजगार सर्जित करने के लिए सरकार ने कौन से कदम उठाये है?

मालूम हो की राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में कहा की सरकार ने करीब 35 लाख नौकरियों में इंटरव्यू खत्म कर भ्रष्टाचार को खत्म करने का काम किया है. इस अभिभाषण में युवाओ पर फोकस करते हुए बताया गया की अगले 4 साल में 1 लाख करोड़ युवाओ को स्किल्ड बनाने का लक्ष्य है. राष्ट्रपति ने वन रैंक वन पेंशन का जिक्र करते हुए कहा की पिछले चार दशक से हो रही OROP की मांग को पूरा किया गया.

नोट बंदी पर सरकार ने अपनी पीठ थपथपाते हुए बताया की कालेधन पर प्रहार करने के लिए नोट बंदी जैसा बड़ा फैसला लिया गया. इसके अलावा डिजिटल लेनदेन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है. जबकि कुछ दिनों में ही आधार के आधार पर पेमेंट की प्रक्रिया को शुरू कर दिया जाएगा. इस अभिभाषण में सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए राष्ट्रपति ने कहा की सर्जिकल स्ट्राइक के जरिये कई आतंकवादी अड्डो को तबाह किया गया. इससे आतंकवाद को मुंह तोड़ जवाब दिया गया.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें