पणजी | गोवा में बदलते राजनितिक समीकरण के बीच बनी बीजेपी सरकार ने फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है. गुरुवार को सदन का विशेष सत्र बुलाया गया और मुख्यमंत्री मनोहर परिकर को बहुमत साबित करने के लिए कहा गया. फ्लोर टेस्ट के दौरान परिकर सरकार के पक्ष में 22 वोट पड़े जबकि विपक्ष में 16. फ्लोर टेस्ट के दौरान कांग्रेस में फूट भी साफ़ दिखाई दी.

कांग्रेस विधायक विश्वजीत राणे ने वोटिंग का बहिष्कार किया. राणे लगातार कांग्रेस के केन्द्रीय नेतृत्व पर आरोप लगा रहे है की वो नही चाहते थे की गोवा में कांग्रेस की सरकार बने. इस मामले में कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह पर लगातार सवाल खड़े किये जा रहे है. हालाँकि कांग्रेस लगातार कहती आई है की गोवा कांग्रेस में कोई फूट नही है. हालाँकि विश्वजीत राणे ने वोटिंग का बहिष्कार कर अपनी नाराजगी जरुर जाहिर कर दी.

उधर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार को मनोहर परिकर सरकार ने अपना बहुमत साबित कर दिया. उनके पक्ष में गोवा फॉरवर्ड पार्टी , महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के 3-3 विधायको ने वोट डाला. इसके अलावा तीन निर्दलीय विधायको ने भी परिकर सरकार का समर्थन किया. बहुमत साबित करने के बाद मनोहर परिकर ने कहा की हम पहले से कहते आ रहे थे की हमारे पास नम्बर है और वो हमने फ्लोर पर साबित भी कर दिया.

मालूम हो की गोवा में विधानसभा की 40 सीटें है. अभी हुए विधानसभा चुनावो में बीजेपी को 13 जबकि कांग्रेस को 17 सीटें प्राप्त हुई. सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद भी कांग्रेस गोवा में सरकार बनाने में विफल रही. बीजेपी सरकार बनने पर राहुल गाँधी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा की मणिपुर और गोवा में बीजेपी ने चोरी की सरकार बनायीं है. वहां बीजेपी ने पैसो का इस्तेमाल कर विधायको की खरीद फरोख्त की है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?