मुंबई | बॉलीवुड के असाधारण अभिनेता ओम पुरी अब इस दुनिया में नही रहे. अपने संजीदा अभिनय से लोगो के दिल में अलग जगह बनाने वाले ओम पुरी का आज 66 साल की उम्र में निधन हो गया. उनके निधन से पूरा बॉलीवुड शोक में डूब गया. वो फ़िलहाल सलमान खान के साथ ट्यूबलाइट की शूटिंग में व्यस्त थे.

शुक्रवार सुबह ओम पूरी अपने मुंबई वाले फ्लैट में मृत पाए गए. बताया जा रहा है की हार्ट अटैक की वजह से उनकी मौत हुई. ओम पूरी पिछले कई साल से अपनी पत्नी से विवाद होने की वजह से अकेले रह रहे थे. उनको जानने वाले लोग बताते है की वो शराब के ज्यादा आदि हो चुके थे. उनकी इसी आदत की वजह से वो कई बार मुश्किलों में भी फंसे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

साधारण शक्ल सूरत के असाधारण अभिनेता ओम पूरी ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत मराठी फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से की थी. वो कला फिल्मो के बेहतरीन अभिनेता माने जाते थे. 80 के दशक में आई ‘अर्द्धसत्य’, ‘आक्रोश’, ‘पार’ जैसे कला फिल्मो ने उन्हें नसीरुद्दीन शाह जैसे अभिनेताओ की कतार में लाकर खड़ा कर दिया.

हरियाणा के अम्बाला में , सन 1950 में एक रेलवे अधिकारी के घर उनका जन्म हुआ. बड़ा होने पर उनकी रूचि फिल्मो की और हुई तो उन्होंने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) और फिर पुणे के फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट में अभिनय की शिक्षा दीक्षा ली. यहाँ नसीरुद्दीन शाह उनके सहपाठी रहे. 1990 में उन्होंने कमर्शियल फिल्मो का रुख किया. यहाँ भी उनको काफी सफलता मिली.

ओम पूरी ने बॉलीवुड के अलावा हॉलीवुड में भी कई फिल्मो में काम किया. जूलिया रोबर्ट्स के साथ आई उनकी फिल्म ‘चार्ली विल्सन्स वॉर’ को कौन भूल सकता है. इस फिल्म में उन्होंने पाकिस्तानी जनरल जिया-उल-हक़ के किरदार को जीवंत कर दिया था. फिल्मो में असाधारण योगदान के लिए उनको देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पदमश्री से भी नवाजा गया.

Loading...