नई दिल्ली | प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद् प्रस्ताव के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर निशाना साधा. मनमोहन सिंह द्वारा नोट बंदी को व्यवस्थित लूट बताने से नाराज दिखे मोदी ने कहा रेनकोट पहनकर बाथरूम में नहाने की कला कोई मनमोहन जी से सीखे. इसके अलावा मोदी ने कांग्रेस पर भी जमकर भड़ास निकाली. उन्होंने नोट बंदी को देश हित में बताते हुए इसकी कई उपलब्धियों का भी बखान किया.

बुधवार को राज्यसभा में बोलते हुए मोदी ने मनमोहन सिंह के बारे में कहा की भारत को आजाद हुए 70 हो चुके है. इन 70 सालो में से 35 साल , डॉ मनमोहन सिंह ने देश के लिए कुछ महतवपूर्ण निर्णय लिए. वो देश के पहले व्यक्ति है जिनकी इतने सालो तक महतवपूर्ण निर्णयों में अहम् भूमिका रही. देश में इतने घोटाले हुए लेकिन डॉ साहब के दामन पर कोई दाग नही लगा. बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाने की कला तो कोई उनसे सीखे.

मनमोहन सिंह पर हुए निजी हमले से बोख्लाई कांग्रेस ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया. दिग्विजय से लेकर अनंदा शर्मा तक लगातार मोदी से माफ़ी की मांग करते रहे. बाद में कांग्रेस के सभी सांसदों ने सदन से वाक् आउट कर दिया. ज्यादातर विपक्ष के वाक् आउट करने से खाली हुए सदन को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा की इस सदन में जब मनमोहन सिंह ने नोट बंदी को व्यवस्थित लूट बताया था तब भी मर्यादा लांघी गयी थी. हम पलटवार करना जानते है.

नोट बंदी पर दुनिया भर के अर्थशास्त्रियो की आलोचना पर बोलते हुए मोदी ने कहा की यह दुनिया का पहला सबसे बड़ा फैसला है जिसके बाद जनता और सरकार साथ आई. चूँकि इतना बड़ा फैसला आज तक किसी देश में पहले नही लिया गया तो विदेशी अर्थशास्त्री इसका अवलोकन नही कर सकते. यह निर्णय दुनिया भर के लिए केस स्टडी का काम करेगा. प्रधानमंत्री ने नोट बंदी के फायदे बताते हुए कहा की केवल 40 दिनों में ही 700 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया जो इससे पहले कभी नही हुआ.

मोदी ने वांचू कमिटी और गोडबोले की किताब का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा की गोडबोले ने अपनी किताब में लिखा था की वांचू कमिटी ने 1970 में विमुद्रीकरण की सिफारिश की थी लेकिन तत्कालीन प्रधनामंत्री इंदिरा गाँधी ने इसे यह कहकर टाल दिया की हम राजनितिक लोग है और हमें चुनाव लड़ना पड़ता है. मोदी के इस बयान पर भी हंगामा हुआ तो उन्होंने कांग्रेस को ललकारते हुए कहा की अगर गोडबोले की किताब में गलत लिखा है तो आज तक आप चुप क्यों बैठे थे, उन पर केस क्यों नही किया? मैं आपकी जगह होता तो कब का केस कर दिया होता.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें