Khaki shaming, she found the objectionable condition Inspector

बलिया, उत्तर प्रदेश में बलिया के एक दरोगा के कृत्य से जनपद में खाकी वर्दी शर्मसार हो गई। गुरुवार को भोर में एक पुलिस चौकी इंचार्ज एक घर में महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा गया।

ग्रामीणों ने दरोगा को घर में बंद कर दिया। 100 नंबर डायल कर घटना की सूचना पुलिस को दी। सीओ सदर बाबू लाल यादव, नरहीं एसओ रामरतन सिंह सहित अन्य आला अधिकारी पहुंच गए।

सीओ के मुताबिक मामले की जांच बैठा दी गई है। उधर पुलिस कप्तान अनीस अहमद ने कहा कि शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नरहीं थाने के एक पुलिस चौकी इंचार्ज का पास के ही एक गांव में काफी दिनों से आनाजाना था। पुलिस चौकी का एक सिपाही अक्सर दरोगा को लेकर गांव की एक युवती से मिलने रात के वक्त जाता था।

पुलिस की गाड़ी रात के वक्त एक घर के सामने रुकती थी और दरोगा वहां घंटों वक्त बिताता था। यह देख आसपास के लोग परेशान थे। बुधवार को ग्रामीण पहले से ही दरोगा को पकड़ने के लिए तैयार थे।

रात लगभग नौ बजे चौकी इंचार्ज एक सिपाही के साथ बाइक से युवती के घर पहुंचा। थोड़ी देर बाद ग्रामीणों ने जैसे ही घर का दरवाजा खोला तो दारोगा और युवती को आपत्तिजनक स्थिति में देखकर आगबबूला हो गए। ग्रामीणों ने पहले दरोगा को थप्पड़ जड़ा, फिर दरवाजा बंद कर दोनों को घर में ही कैद कर दिया।

इसके बाद 100 नंबर डायल कर घटना की सूचना दी। इस पर एसओ मौके पर पहुंच गए। मौके की नजाकत को भांप थानाध्यक्ष ने आला अधिकारियों को घटना की सूचना दी।

मौके पर तत्काल सीओ बाबूलाल यादव पहुंच गए। घटना को लेकर ग्रामीणों में जबर्दस्त उबाल है।

इस संबंध में सीओ सदर बाबूलाल यादव ने बताया कि मामले की जांच बैठा दी गई है। गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।

साभार http://www.amarujala.com/