Saturday, June 25, 2022

राज्यसभा चुनाव: गुजरात हाई कोर्ट ने अमित शाह, स्मृति ईरानी और अहमद पटेल को भेजा नोटिस

- Advertisement -

गांधीनगर | हाल ही में संपन्न हुए गुजरात राज्यसभा चुनाव, आजाद भारत के इतिहास के सबसे रोमांचक राज्यसभा चुनाव थे. हो भी क्यूँ न, आखिर देश की दो सबसे बड़ी पार्टी के दो चाणक्य आमने सामने जो थे. एक तरह बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अपनी रणनीति से कांग्रेस के चाणक्य अहमद पटेल को हराने की कोशिश कर रहे थे तो दूसरी तरफ अहमद पटेल , अमित शाह की हर चाल को नाकाम करते जा रहे थे. यह चुनाव दोनों पार्टियों के लिए अहम की लड़ाई बन चुकी थी.

हालाँकि अंत में कांग्रेस के चाणक्य अहमद पटेल ने शाह को मात देते हुए फतह प्राप्त की. इसके लिए उन्होंने ऐसी चाल चली की विपक्षी पार्टी के पास उसका कोई तोड़ नही था. जो हाल कांग्रेस का हरियाणा राज्यसभा चुनाव के दौरान हुआ, उसने कांग्रेस को गुजरात में संजीवनी बूटी देने का काम किया. इसलिए आजाद भारत में ऐसा पहली बार हुआ की चुनाव संपन्न होने के 9 घंटे बाद वोटो की गिनती शुरू हुई.

लेकिन अहमद पटेल के ऊपर से मुसीबत अभी टली नही है. दरअसल अहमद पटेल के सामने बीजेपी उम्मीदवार बलवंत सिंह राजपूत चुनाव लड़ रहे थे. हार के बाद उन्होंने चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ गुजरात हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की. उन्होंने याचिका में चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठाये है. बलवंत राजपूत की याचिका पर सुनवाई करते हुए गुजरात हाई कोर्ट ने चुनाव आयोग, अमित शाह, केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और अहमद पटेल को नोटिस जारी किया है.

कोर्ट ने तीनो को अपना जवाब 21 सितम्बर तक जवाब दाखिल करने के लिए कहा है. बताते चले की चुनाव आयोग ने कांग्रेस की शिकायत पर उनके ही दो बागी विधायको के वोट रद्द कर दिए थे. कांग्रेस का आरोप था की दोनों विधायको ने अपने वोट बीजेपी अध्यक्ष को दिखाए. चुनाव आयोग ने विडियो देखने के बाद कांग्रेस के आरोपों को सही पाया और दोनों वोट रद्द कर दिए. चुनाव आयोग के इसी फैसले को बलवंत ने गुजरात हाई कोर्ट में चुनौती दी.     

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles